it-is-the-government39s-priority-to-provide-tap-water-to-every-house-tarkishore-prasad
it-is-the-government39s-priority-to-provide-tap-water-to-every-house-tarkishore-prasad
बिहार

हर घर नल का जल पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता: तारकिशोर प्रसाद

news

-उप मुख्यमंत्री ने कहा- विकासात्मक कार्यों का स्वरूप जन आकांक्षी रखना बेहद जरूरी है पटना, 08 अप्रैल (हि.स.)। बिहार के उप मुख्यमंत्री-सह- नगर विकास एवं आवास विभाग के मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने गुरुवार को यहां निकायों के पदाधिकारियों के साथ शहरी नल-जल निश्चय योजना के फेज-1 एवं फेज-2 के अंतर्गत किए गए कार्यों के क्रियान्वयन की समीक्षा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से की। समीक्षा के क्रम में उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि शहरी नल-जल निश्चय योजना के क्रियान्वयन के क्रम में अधिकांश शहरी निकायों में सड़कों को काटा गया है और पाइपलाइन बिछाने के बाद उसकी मरम्मत नहीं की गई, जो खेदजनक है। उन्होंने सभी नगर निकायों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि 15 मई के पहले तक क्रियान्वित योजनाओं की सड़कों की मरम्मति हर हाल में सुनिश्चित कराई जाए, ताकि बारिश के पहले सड़कें मोटरेबल रह सकें, अन्यथा सड़कों के क्षतिग्रस्त रहने पर बारिश के मौसम में आवाजाही में आम नागरिकों को कठिनाई होगी। उन्होंने इसे पूरी संवेदनशीलता के साथ से क्रियान्वित करने के निर्देश दिए। आरा एवं छपरा शहरी निकाय के लचर प्रगति के कारण संबंधित पदाधिकारी पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने निर्देश दिया कि निर्धारित समय पर योजनाओं को पूर्ण कराएं एवं सड़कों को रिस्टोर करें, अन्यथा कार्रवाई होगी।सभी नगर निकाय के पदाधिकारियों को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि योजना की प्रगति एवं अद्यतन स्थिति की जानकारी स्थानीय विधायक को अवश्य दें। हमारी अपेक्षा है कि सरकार के माध्यम से किए जा रहे विकासात्मक कार्यों को जन आकांक्षी बनाया जाए, इसके लिए प्रगति एवं अद्यतन स्थिति की जानकारी जन प्रतिनिधियों को निश्चित रूप से दी जानी चाहिए। इससे पारदर्शिता एवं सकारात्मक कार्य प्रणाली भी परिलक्षित होती है। उन्होंने कहा कि शहरी निकायों में फेज-1 एवं फेज-2 के अंतर्गत योजनाओं के क्रियान्वयन में अपेक्षित प्रगति नहीं है, इनमें तेजी से काम करने की आवश्यकता है। उन्होंने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि सात निश्चय की योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी प्रकार की कोताही एवं लचर प्रगति पाए जाने पर कठोर कार्रवाई होगी। इसलिए अधिकारी निर्धारित समय-सीमा के अन्दर योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित कराएं।समीक्षा बैठक के दौरान विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर, बुडको के प्रबंध निदेशक रमण कुमार भी उपस्थित रहे। हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द