government-needs-to-be-more-strict-about-liquor-ban-law-ajay-nishad
government-needs-to-be-more-strict-about-liquor-ban-law-ajay-nishad
बिहार

सरकार को शराबबंदी कानून को लेकर और सख्त होने की जरूरत: अजय निषाद

news

मुजफ्फरपुर, 04 अप्रैल (हि.स.)। बिहार के मुजफ्फरपुर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लोकसभा सांसद अजय निषाद ने रविवार को पत्रकार वार्ता में कहा कि सरकार को शराबबंदी कानून को लेकर और सख्त होने की जरूरत है। उन्होंने आरोप लगाया कि शराब माफियाओं को राजनीतिक और पुलिस प्रशासन का संरक्षण है। भाजपा सांसद निषाद ने नालंदा, सासाराम और बेगूसराय में हाल ही में जहरीली शराब से मौत को लेकर प्रदेश सरकार को कटघरे में खड़ा किया। उन्होंने कहा कि चार वर्ष पूर्व गोपालगंज और वैशाली में इस तरह की घटना हुई थी जिसमें कोर्ट का कठोर फैसला आया था। प्रदेश सरकार को भी सख्ती करनी चाहिए और दोषी लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। सांसद निषाद ने कहा कि जितने भी अवैध शराब के बड़े तस्कर हैं उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई हो, स्पीडी ट्रायल चलाकर सजा हो, नहीं तो यह लोग जमानत करा कर वही अवैध काम करते हैं। अगर ऐसे लोगों के खिलाफ स्पीडी ट्रायल नहीं चलाया या इनको सजा नहीं हुई तो यह शराब का कारोबार नहीं रुकेगा। उन्होंने कहा कि जितने भी शराब कारोबारी हैं वे संपन्न लोग हैं। पैसे और हथियार के साथ-साथ राजनीतिक और पुलिस प्रशासन का भी इन्हें संरक्षण प्राप्त है। संरक्षण से ही इन सभी का अवैध धंधा फल-फूल रहा है। उन्होंने कहा कि एक डीएसपी ने भी यह कहा था कि जितनी बिहार में शराब आती है उसका 30 प्रतिशत भी नहीं पकड़ा जाता है और इन लोगों का सिंडिकेट भी बहुत ज्यादा तगड़ा है। पुलिस शराब माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करती है तो पुलिस पर हमला हो जाता है, बिहार पुलिस लड़ रही है छापेमारी भी कर रही है लेकिन शराब पर जितना कंट्रोल होना चाहिए वह नहीं है यह खेद का विषय है। प्रशासन को और टाइट होना पड़ेगा। हिन्दुस्थान समाचार/मनोज