अयोध्या में मन्दिर निर्माण के लिए भेजा गया गंगाजल  एवं शक्तिपीठ की मिट्टी
अयोध्या में मन्दिर निर्माण के लिए भेजा गया गंगाजल एवं शक्तिपीठ की मिट्टी
बिहार

अयोध्या में मन्दिर निर्माण के लिए भेजा गया गंगाजल एवं शक्तिपीठ की मिट्टी

news

बेगूसराय, 27 जुलाई (हि.स.)। पांच अगस्त को अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर होने वाले मंदिर निर्माण में बेगूसराय के शक्तिपीठ, शिवालय एवं गंगा की मिट्टी तथा गंगाजल का भी उपयोग होगा। इसके लिए सोमवार को मिट्टी तथा जल भेजा गया है। कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे विहिप बजरंगदल के प्रदेश सह संयोजक शुभम भारद्वाज एवं विहिप जिलाध्यक्ष राज किशोर सिंह ने बताया कि 492 वर्षों के संघर्ष के बाद श्रीरामजन्मभूमि पर मन्दिर बनाने का संघर्ष समाप्त हुआ। पांच अगस्त को अयोध्या में भूमिपूजन के लिए देशभर के पवित्र तीर्थ एवं पवित्र नदियों का जल भेजने का कार्यक्रम विहिप ने बनाया है। विहिप के अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष तथा श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय को बेगूसराय से सिमरिया गंगा घाट का जल, सिमरिया धाम की मिट्टी, शक्तिपीठ जयमंगला गढ़ की मिट्टी, पावन शिवालय बाबा हरिगिरिधाम की मिट्टी तथा बूढ़ी गंडक का जल भेजा गया है। सिमरिया में स्वामी चिदात्मन जी महाराज ने अपने हाथों से सिमरिया धाम का मिट्टी प्रदान की तथा अयोध्या भेजने के लिए श्रीयंत्र और वास्तु यंत्र भी दिया है। शुभम ने बताया कि लॉकडाउन का पालन करने के कारण रामभक्त अयोध्या नहीं जा सकते हैं। लेकिन बेगूसराय के हिन्दू समाज का योगदान होना चाहिए, इसलिए पवित्र नदियों का जल, पवित्र स्थानों की मिट्टी अयोध्या कारसेवक पुरम कुरियर के माध्यम से भेजे गये हैंं। मौके पर धर्माचार्य सम्पर्क प्रमुख रामशंकर कश्यप ने आह्वान कि देशभर के रामभक्त समाज को पांच अगस्त को अपने घर एवं मंदिरों में पूजा -अर्चना, जप, हवन करना चाहिए, ताकि मन्दिर निर्माण में कोई बाधा नहीं आए। मौके पर विभाग संयोजक पंकज, जिला सह संयोजक रौशन एवं रामनरेश, तेघड़ा संयोजक मनीष, चेरिया वरियारपुर संयोजक राजकमल, कुम्हारसों मुखिया सौरभ कुमार एवं दीपांशु समेत कई अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/विभाकर-hindusthansamachar.in