forest-department-rescue-three-drone-cameras-installed-to-catch-drought-tiger
forest-department-rescue-three-drone-cameras-installed-to-catch-drought-tiger
बिहार

सूखार बाघ को पकड़ने के लिए वन विभाग का रेस्क्यू, तीन ड्रोन कैमरे लगाए गए

news

बगहा, 15फरवरी(हि.स.)। पश्चिम चम्पारण जिले के मंगुराहा वन क्षेत्र के परसौनी गांव में खूंखार बाघ को पकड़ने के लिए पिछले 24 घंटे से रेस्क्यू चल रहा है। बाघ की निगरानी के लिए तीन ड्रोन कैमरे लगाए गए हैं। जिससे बाघ को लोकेट कर लिया गया है। बाघ वन क्षेत्र में प्रवेश कर गया है,उसके जख्मी होने की संभावना है, जिस एरिया में बाघ है, उसके आसपास तीन पिंजरे और एक दर्जन ट्रैप कैमरे भी लगाए गए हैं, पिंजरे में बाघ को कैद करने का प्रयास चल रहा है। हालांकि अभी तक बाघ पिंजरे के इर्द-गिर्द भी नहीं आया है,2 लोगों को मार चुका है। उल्लेखनीय है कि, मंगुराहां वन प्रक्षेत्र से सटे परसौनी गांव के सरेह में 12 फरवरी की रात बाघ ने किसान दंपति रिखिया देवी और अकलू महतो पर हमला कर दिया था, जिससे दोनों की मौत हो गई थी,जबकि एक अन्य किसान सोखा मांझी गंभीर रूप में जख्मी हो गया था, जिनका इलाज प्राइवेट अस्पताल में चल रहा है, जबकि इलाके में बाघ पिछले एक सप्ताह से घूम रहा था, लेकिन इसको लेकर वन विभाग संजिदा नहीं था,अब जब बाघ के हमले में दो लोगों की मौत हो गई है। वीटीआर के क्षेत्र निदेशक एचके राय ने बताया कि बाघ जंगल में प्रवेश कर गया है, लेकिन वह बार-बार रिहायशी क्षेत्र में आ-जा रहा है।बाघ के जख्मी होने की संभावना है, इसलिए पटना से विशेषज्ञ चिकित्सक बुलाए गए हैं, बाघ को पिंजरे में कैद कर उसका स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि चार ट्रैंक्यूलाइजर गन लेकर रेस्क्यू टीम मुस्तैद है। आवश्यकता पड़ने पर बाघ को ट्रैंक्यूलाइजर गन से फायर कर बेहोश भी किया जा सकता है। बाघ को पकड़ने के लिए प्रशिक्षित 60 टाइगर ट्रैकर को लगाया है। इसके अलावा विभाग के एक दर्जन वन अधिकारियों की भी मौजूदगी में रेस्क्यू चल रहा है। हिन्दुस्थान समाचार /अरविंद तिवारी-hindusthansamachar.in