अपडेट : परिवार चाहे तो सीबीआई जांच सिफारिश कर सकती है बिहार सरकार : नीतीश कुमार
अपडेट : परिवार चाहे तो सीबीआई जांच सिफारिश कर सकती है बिहार सरकार : नीतीश कुमार
बिहार

अपडेट : परिवार चाहे तो सीबीआई जांच सिफारिश कर सकती है बिहार सरकार : नीतीश कुमार

news

परिवार चाहे तो सीबीआई जांच सिफारिश कर सकती है बिहार सरकार : नीतीश कुमार जल संसाधन मंत्री संजय झा ने कहा मौत की सच्चाई आए सामने, सुशांत के परिजनों को मिले न्याय सूबे में जोर पकड़ रही है सुशांत सिंह राजपूत की मौत की सीबीआई जांच की मांग पटना, 01 अगस्त (हि.स.) । फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा है कि अगर सुशांत के पिता सीबीआई जांच की मांग करते हैं तो सरकार इस दिशा में आगे बढ़ सकती है। जनता दल (यूनाइटेड) के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने भी कहा है कि सरकार चाहती है कि सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड की सच्चाई सामने आए और उनके परिवार को न्याय मिले। इसके लिए अगर परिवार चाहता है तो सरकार सीबीआई जांच कराने के लिए बिहार सरकार तैयार है। विदित हो कि विगत 14 जून को सुशांत सिंह राजपूत मुंबई स्थित अपने फ्लैट में मृत पाए गए थे। आत्महत्या मान लाये गए इस मामले में मुंबई पुलिस की जांच से सुशांत का परिवार असंतुष्ट है। अब सुशांत के पिता ने बेटे की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर धन उगाही, ब्लैकमेल, सुसाइड के लिए उकसाने तथा प्रताड़ना सहित कई गंभीर आरोप लगाते हुए पटना में एफआइआर दर्ज करा दी है। सुशांत के परिवार के अनुसार उसने मामले की सीबीआइ जांच की मांग नहीं की है। परिवार चाहता है कि जांच पटना पुलिस करे। ऐसे में सरकार सीबीआई जांच के लिए परिवार की सहमति मिलने पर राजी है। सुशांत सिंह राजपूत की मौत की सीबीआइ जांच को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह बिहार का मामला नही, इसलिए राज्य सरकार अपनी ओर से कुछ नहीं कर सकती। सुशांत के पिता ने एफआइआर दर्ज कराया है, जिसकी पुलिस जांच कर रह रही है। अगर सुशांत के पिता सीबीआई जांच के लिए कहते हैं तो सरकार इस दिशा में आगे बढ़ सकती है। इस बाबत मंत्री संजय झा ने कहा है कि अगर सुशांत के परिवार के लोग मांग करेंगे तो सरकार अनुशंसा करने में देर नहीं करेगी। संजय झा ने कहा कि अभी तक सुशांत के परिवार वालों ने बिहार सरकार से ऐसी कोई मांग नहीं की है। इसलिए सरकार अपनी ओर से कदम नहीं बढ़ा रही है। संजय झा ने स्वीकार किया कि इस मामले में मुंबई पुलिस का रवैया टालमटोल का रहा है। न तो वह खुद निष्पक्ष जांच कर रही है और न ही बिहार पुलिस को सहयोग कर रही है। पटना में एफआइआर दर्ज होने के बाद बिहार पुलिस की एक टीम जांच के लिए मुंबई गई हुई है। किंतु, महाराष्ट्र पुलिस का अपेक्षित सहयोग नहीं मिल रहा है। निष्पक्ष जांच के लिए बिहार पुलिस को मुंबई में जिन-जिन दस्तावेजों की जरूरत है, उन्हें उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। मुंबई पुलिस का व्यवहार भी बिहार पुलिस के साथ ठीक नहीं है। उधर, पटना पुलिस की जांच के खिलाफ रिया चक्रवर्ती ने सुपीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है, जिसका सुशांत के पिता व बिहार सरकार ने कोर्ट में विरोध किया है। उधर, महराराष्ट्र सरकार मुंबई पुलिस की जांच के समर्थन में सुप्रीम कोर्ट चली गई है। ऐसे में यह मामला कानूनी पेंचीदियों में भी फंसता दिख रहा है। इन सब के बीच पहले से उठ रही सीबीआई जांच की मांग जोर पकड़ रही है। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव रंजन /विभाकर-hindusthansamachar.in