भोजपुर के दुल्लौर अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल में किया गया तब्दील
भोजपुर के दुल्लौर अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल में किया गया तब्दील
बिहार

भोजपुर के दुल्लौर अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल में किया गया तब्दील

news

आरा,23 जुलाई(हि. स)।भोजपुर जिले में तेजी से कोरोना की चपेट में आ रहे सामान्य और गंभीर रोगियों को अब इलाज के लिए पटना के कोविड-19 अस्पतालों पर निर्भर नही रहना पड़ेगा। भोजपुर में कोविड अस्पताल गुरुवार से कार्य करना शुरू कर दिया है। जिले के जगदीशपुर स्थित दुल्लौर अनुमंडलीय अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल में बदल दिया गया है। भोजपुर में 50 बेड वाले कोविड-19 अस्पताल पीपीई किट,ऑक्सीजन सिलेंडर,डाक्टर, नर्स स्टाफ, दवा, उपकरण और अत्याधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण है। जगदीशपुर के दुल्लौर स्थित अनुमंडलीय अस्पताल को भोजपुर का कोविड-19 अस्पताल बनाये जाने के बाद अब इस अस्पताल में सामान्य रोगियों के इलाज की व्यवस्था खत्म कर दी गई है। इस अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल बना दिये जाने के बाद अब सिर्फ यहां कोरोना संक्रमित मरीजों का ही इलाज किया जा रहा है। ऐसा सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए किया जा रहा है। इस कोविड-19 अस्पताल में गुरुवार को एंटीजन रैपिड टेस्ट भी शुरू कर दी गई है। कोरोना के लक्षण वाले मरीजों की अब इसी अस्पताल में ही जांच हो जाएगी और उन्हें अब आरा या दूसरे जगह जाने की जरूरत नही पड़ेगी। जगदीशपुर के दुल्लौर स्थित कोविड-19 अस्पताल के डीएस डॉ. विनोद प्रताप सिंह ने बताया कि गुरुवार को संदेश के एक ज्वेलरी दुकानदार को कोरोना संक्रमित होने के बाद इस अस्पताल में इलाज शुरू हुआ है। इस कोरोना संक्रमित मरीज का इलाज पीपीई किट पहनकर चिकित्सको ने शुरू किया है। भोजपुर के जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा ने दुल्लौर स्थित अनुमंडलीय अस्पताल को कोविड-19 अस्पताल में तब्दील करने और इसमें कोरोना मरीजों के इलाज शुरू कराए जाने के मामले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हिन्दुस्थान समाचार-hindusthansamachar.in