दिव्यांगता रजिस्टर को अप टू डेट करने के लिए होगा डोर टू डोर सर्वे

दिव्यांगता रजिस्टर को अप टू डेट करने के लिए होगा डोर टू डोर सर्वे
door-to-door-survey-will-be-done-to-make-the-disability-register-up-to-date

गया, 24 मार्च (हि.स.)। गया जिला में प्रखंड दिव्यांगता पंजी को अपडेट करने के लिए पांच अप्रैल से डोर-टू-डोर सर्वे शुरू किया जाएगा। समावेशी शिक्षा अंतर्गत प्रत्येक प्रखंड में दिव्यांग बच्चों की संपूर्ण जानकारी ब्लॉक डिसेबिलिटी रजिस्टर में एंट्री की गई है। 2020-21 सर्वे के अनुसार गया जिले के विभिन्न प्रखंडों में कुल 6650 दिव्यांग स्टूडेंट्स हैं। डिसेबिलिटी रजिस्टर को अब अपडेट किया जाएगा। डीपीओ प्राथमिक शिक्षा व सर्व शिक्षा अभियान उपेंद्र कुमार सिंह ने इस बाबत सभी संसाधन शिक्षक, पुनर्वास विशेषज्ञ और प्रखंड साधनसेवियों को निर्देश जारी किया हैं। निर्देश में कहा गया है कि दिव्यांगता पंजी और यू-डायस डाटा को मिलान करने पर दिव्यांग बच्चों के आंकड़ों में काफी अंतर रहता है। इसलिए सभी प्रखंडों में डोर-टू-डोर सर्वे कर प्रखंड दिव्यांगता पंजी को अपडेट किया जाना आवश्यक है। प्रखंडों में तीन वर्ष से लेकर 18 आयु वर्ग के 21 प्रकार के दिव्यांगता वाले बच्चों का सर्वे पांच जून तक पूरा कर लेने का निर्देश दिया गया है। डोर-टू-डोर सर्वे करते समय कई बातों का ध्यान रखने का निर्देश दिया गया है। जिसमें विद्यालय स्तर पर संधारित बाल पंजी व डायस प्रपत्र में सर्वे के दौरान चिन्हित किए गए दिव्यांग बच्चों की प्रविष्टि करने और सर्वे प्रपत्र से जुड़े आंकड़ों को स्कूल के हेडमास्टर के साथ साझा करने को कहा है। निर्देशित किया गया है कि डोर-टू-डोर सर्वे के दौरान कस्तूरबा विद्यालयों में नामांकन, मनोविकास, स्पर्श, गामक, उत्कर्ष, वाणी विकास प्रशिक्षण और डे केयर सेंटर (संसाधन कक्ष) के लिए अभिभावकों से परामर्श कर सूची तैयार करें और जिला कार्यालय को उपलब्ध कराएं। सर्वेक्षण प्रपत्र में किसी तरह के कॉलम से छेड़छाड़ नहीं किया जाएगा। इस सर्वेक्षण के दौरान तीन वर्ष से 18 वर्ष तक के दिव्यांग बच्चों काे दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम में वर्णित दिव्यांगता के आलोक में चिन्हित करने का आदेश दिया गया है। सर्वे कार्य स्कूल केंद्रित होगा। संबंधित स्कूलों के पोषक क्षेत्र में पाए गए दिव्यांग बच्चों की जानकारी सर्वेक्षण प्रपत्र में प्रविष्ट कर स्कूल के हेडमास्टर, वार्ड सदस्य, मुखिया व सरपंच से सत्यापित कराएंगे और डायस प्रपत्र में सही आंकड़ों की प्रविष्टि में सहयोग करेंगे। तीन अप्रैल 2021 को कार्यालय में उपस्थित होकर सर्वे प्रपत्र और अन्य सामग्री प्राप्त कर लेने का निर्देश दिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/चंदा

अन्य खबरें

No stories found.