साइकिल दिवस पर साइकिलस्टो ने निकाली प्रभात फेरी

साइकिल दिवस पर साइकिलस्टो ने निकाली प्रभात फेरी
cyclesto-took-out-prabhat-pheri-on-cycle-day

पूर्णिया, 03 जून (हि. स.)। पूर्णिया साइकिल एसोसिएशन द्वारा तीन जून को साइकिल की रैली प्रभात फेरी के रूप में निकाली गई। इस रैली को निकालने का उद्देश्य साइकिल चलाने के प्रति जागरूक करना और पर्यावरण को बचाना था। साथ ही यह संदेश देना था की कोरोना के इस दौर में हम सभी प्रण लें की हम सभी मिलकर और एक होकर अपनी अपनी लड़ाई लड़कर करोना को मात दे सकते हैं ।पूर्णिया साइकिल एसोसिएशन द्वारा यह रैली विभिन्न प्रकार के बैनर के साथ निकाली गई । इस रैली में पूर्णिया साइकलिंग एसोसिएशन के साइकिलिस्ट तथा सभी मेंबरों के अलावा कई संस्थानों के लोगों ने भी भाग लिया। विभिन्न बैनरों में स्लोगन जिसमें लिखा था -रन ऑन फैट रन ऑफ फ्यूल ,राइड टू लाइव लाइव टू राइट ,राइड ए बाइसिकिल एंड फ्लाई हाई, हम सब का संकल्प "सिटी ऑफ साइकिलिस्ट बने पूर्णिया", राइड ए बाइसिकिल एंड लाइव लौंगर, फिटनेस का डोज साइकिल करो रोज ,ट्राई एंड फ्लाई विथ इट, इट्स नॉ और एवर इत्यादि। इन सब नारों लिखे तख्तियों ने लोगों को काफी आकर्षित किया।इन नारों से साइकिलिस्ट काफी गर्व महसूस कर रहे थे। इस यात्रा में डॉक्टर अंगद कुमार चौधरी और उनकी पत्नी डाक्टर आभा चौधरी ने डबल पैडलर साईकिल चलाकर एक कीर्तिमान बनाया।इस साईकिल को एक साथ दो व्यक्ति चलाते है।उनके इस लम्बे यात्रा ने अन्य साइकिलिस्टों का काफी उत्सावर्धन किया। इस यात्रा में लगभग 60 साइकिलिस्टों ने भाग लिया। इस अवसर पर साइकलिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश कुमार ने कहा की यह यात्रा का संदेश बिल्कुल साफ है कि हम साइकिल चलाकर पर्यावरण को ठीक रखी सकते हैं साथ ही पेट्रोल की भी बचत कर पैसे बचा भी सकते हैं। इम्यून सिस्टम को मजबूत कर सकते हैं ।हमें निरंतर यह प्रयास करते रहना होगा जिससे हमारे समाज में एक अच्छा मैसेज जाए । वही सचिव विजय शंकर ने कहा की यह प्रभात फेरी पूर्णिया के लिए एक संदेश है कि हम सभी को मिलकर एकजुट होना होगा और पर्यावरण की सुरक्षा के लिए आगे आना होगा तथा इसी तरह कोरोनावायरस की महामारी में लड़कर आगे बढ़ना होगा। हम निरंतर प्रयास करेंगे कि हमारा साइकिल एसोसिएशन समाज के प्रति एवं प्रकृति के प्रति उत्तरदाई हो। वरिष्ठ सदस्य राणा प्रताप सिंह ने कहा की हमें अपनी उर्जा बढ़ाने के लिए खुद आगे आना होगा और मेहनत करनी होगी। किसी भी रूप में अगर हम अपने स्वास्थ्य नामक धन को बचा लेते हैं तो एक अच्छा संवाद प्रकृति से जुड़ेगा । डॉक्टर अंगद चौधरी एवं आभा चौधरी ने अपने संयुक्त बयान में कहा कि हम डॉक्टर हैं और हम मरीजों को ठीक करते हैं लेकिन अगर हम खुद से अपने आप को स्वस्थ रखें तो डॉक्टर की आवश्यकता कम ही पड़ेगी। किसी भी रूप में हमें प्रकृति के साथ तालमेल कर के चलना होगा ।इसे हमें अपनी नियति बनानी होगी जिससे हम अपने समाज सहित दुनिया को भी सुरक्षित रखने में कामयाब हो सके । साइकिल एसोसिएशन के संरक्षक नंदकिशोर सिंह ने कहा की साइकिलिंग का यह ताना-बाना हम सभी मिलकर इसलिए बुन रहे हैं कि हमारा व्यक्तिगत इम्यून सिस्टम मजबूत हो ।एक दूसरे के प्रति सहयोग की भावना स्वस्थ रहकर पैदा करने से भी ऊर्जा के रूप में हमारा इम्यून सिस्टम बनता है और मजबूत होता है। हम सभी साइकिलस्टो ने प्रण किया है कि पूर्णिया को एक साइकिलस्टो की सीटी बनाएं । यह यात्रा पूर्णिया के इंदिरा गांधी स्टेडियम से प्रारंभ होकर गिरजा चौक ,थाना चौक, मधुबनी चौक होते हुए डॉलर हाउस चौक फिर बहुमंजिला बाजार ,आरएन साव चौक , लखन चौक ,रजनी चौक, माधोपारा होते हुए श्री राम सेवा संघ द्वारा कोरोना काल में भोजन उपलब्ध करवाए जा रहे अन्नपूर्णा रसोई में जाकर समाप्त हुआ ।अन्नपूर्णा रसोई के सारे सदस्यों ने मिलकर सभी साइकिलस्टो को नाश्ते का प्रबंध किया । इस दौरान एसोसिएशन के कई महत्वपूर्ण सदस्य मौजूद रहे जिनमे जिनमें कृष्णा कुमार, सोनू पराशर, दीपक कुमार, अमरकांत झा ,तौफीक आलम, आतिश सनातनी,आलोक,अनिल,सुनीललोहिया,मनोज पटोदिया,रंजन आचार्या, शशांक शेखर सिंह,प्रियांशु दत्त,राकेश,कुमार हिन्दराज, विक्की,राजीव,जुनैद,ज्योति, ऋत्विक ,नीलम,मयंक ,विकास अभिषेक,डिम्पल इत्यादि मौजूद थे। हिन्दुस्थान सामाचार /नंदकिशोर