जहरीली शराब से मौत के मामले में भाकपा माले ने फूंका मुख्यमंत्री का पुतला

जहरीली शराब से मौत के मामले में भाकपा माले ने फूंका मुख्यमंत्री का पुतला
cpi-male-burnt-effigy-of-chief-minister-in-case-of-death-due-to-poisonous-liquor

नवादा,01 अप्रैल (हि.स.)। भाकपा-माले ने जहरीली शराब से जिले में नौ लोगों की मौत व आधा दर्जन लोगों की आंखों की रोशनी चले जाने के विरुद्ध शराब बंदी कानून की विफलता का आरोप लगाते हुए गुरुवार को नवादा की सड़कों पर प्रतिरोध मार्च निकाला। प्रजातंत्र चौक पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला फूंकते हुए जहरीली शराब से मौत के जिम्मेदार अधिकारियों व अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। भाकपा माले के जिला सचिव नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने नवादा नगर में प्रतिरोध मार्च का आयोजन कर राज्य सरकार के विरोध में नारेबाजी की।जेपी चौक पर मुख्यमंत्री का पुतला दहन के बाद भाकपा माले नेता भोलाराम ने कहा कि नीतीश सरकार शराबबंदी कानून के नाम पर माफिया गिरी को बढ़ावा दे रही है। सत्ता संपोषित शराब माफियाओं ने ही जहरीली शराब बेचकर गरीबों को मौत के मुंह में सुलाया है ।यही वजह है कि सरकार व जिला प्रशासन के लोग जहरीली शराब की मौत के मामले में भी दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई करने में हिचक रहे हैं। माले नेता ने कहा कि निश्चित तौर पर सत्ता के आड़ में नीतीश कुमार बिहार में शराब का दो नंबर धंधा चलावा रहे हैं । जिससे उनके चहेते व उनके नजदीकी अधिकारी मालामाल हो रहे हैं। भाकपा माले ने कहा कि अगर 5 दिनों के भीतर जहरीली शराब कांड की जांच नहीं कराई गई तो चरणबद्ध आंदोलन शुरू किया जाएगा।हिन्दुस्थान समाचार/डॉ सुमन

अन्य खबरें

No stories found.