भोजपुर में बढ़ा कोरोना का खतरा, आरा रेलवे स्टेशन पर भी कोरोना जांच शुरू

भोजपुर में बढ़ा कोरोना का खतरा, आरा रेलवे स्टेशन पर भी  कोरोना जांच शुरू
corona-threat-increased-in-bhojpur-corona-investigation-also-started-at-ara-railway-station

आरा, 12 अप्रैल (हि.स.)। जिले में कोरोना का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। जिले में एक्टिव कोरोना संक्रमितों की संख्या 223 हो गई है। बिहार राज्य स्वास्थ्य समिति ने जो ताजा रिपोर्ट जारी की है, उसके अनुसार जिले में कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 5,443 और एक्टिव संक्रमितों की संख्या 223 हो गई है। अबतक 5,171 लोग कोरोना को मात देकर घर वापस लौट चुके हैं और पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं जबकि जिले में पचास कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है। मार्च महीने से अबतक जिले में कोरोना की स्थिति बेहद चिंताजनक हुई है और इस दौरान 325 लोगों की कोरोना संक्रमित होने की पहचान हुई है। आरा के टाउन स्कूल के दो शिक्षक कोरोना संक्रमित पाये गये हैं और 33 नये संक्रमित केस सामने आये हैं। जिले में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रशासन भी सतर्क हो गया है। जगह-जगह मास्क, सैनिटाइजेशन और सामाजिक और शारीरिक दूरी का पालन कराया जा रहा है। भोजपुर जिले की सभी दुकानों को शाम सात बजे बन्द करा दिया जा रहा है।शाम होते ही शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रो के बाजारों में सन्नाटा पसर जा रहा है और सात बजे के बाद रात्रि कर्फ्यू का नजारा दिखने लगा है। मुम्बई, पुणे जैसे बाहर के राज्यों से आरा पहुंच रही ट्रेंनों से सफर कर आरा स्टेशन पर उतरने वाले यात्रियों की एंटीजेन किट से जांच शुरू कर दी गई है। यह जांच दिन और रात में आने वाली सभी ट्रेंनो से उतरने वाले यात्रियों को शिविर में कतार लगाकर की जा रही है। आरा स्टेशन पर प्रतिदिन लगभग 150 से 200 यात्रियों की एंटीजेन किट से जांच की जा रही है। भोजपुर जिले में कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए स्कूल-कॉलेज तो आगामी 18 अप्रैल तक बन्द कर ही दिये गये हैं किंतु कॉलेजों में परीक्षा संबंधी कार्य हो रहे हैं। वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय आरा के विभिन्न कॉलेजों में पीजी सेमेस्टर दो सत्र 2019-21 और सेमेस्टर तीन सत्र 2018-20 के परीक्षा फॉर्म भरे जा रहे हैं।स्नातक खण्ड दो सत्र 2018-21 के भी परीक्षा फॉर्म भरे जा रहे हैं। कोरोना के खतरे को ले आरा सहित भोजपुर जिले की सडकों और बाजारों में आम दिनों की अपेक्षा भीड़ काफी कम दिख रही है। जिले के लोग भी बेवजह सडकों और बाजारों में घूमने से परहेज कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/हिमांशु शेखर