एक भारत श्रेष्ठ भारत की  वेब संगोष्ठी में  कोरोना काल की  चुनौती पर चर्चा
एक भारत श्रेष्ठ भारत की वेब संगोष्ठी में कोरोना काल की चुनौती पर चर्चा
बिहार

एक भारत श्रेष्ठ भारत की वेब संगोष्ठी में कोरोना काल की चुनौती पर चर्चा

news

बेगूसराय, 23 जुलाई (हि.स.)। एक भारत श्रेष्ठ भारत क्लब की ओर से गुरुवार को ' कोविड-19 और हमारी गतिविधियां' विषयक वेब लघु संगोष्ठी का आयोजन किया गया। गणेशदत्त महाविद्यालय , बेगूसराय के सांस्कृतिक विभाग के संयोजन में आयोजित इस संगोष्ठी में 23 छात्रों और क्लब प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। संगोष्ठी को संबोधित करते हुए एक भारत श्रेष्ठ भारत क्लब के नोडल अधिकारी सह अंग्रेजी विभागाध्यक्ष प्रो. कमलेश कुमार ने कहा लॉकडाउन को लेकर हमारे सामने ढेर सारी चुनौतियां आ रही हैं, लेकिन जो छात्र इन चुनौतियों को अवसरों में बदल रहे हैं, वे निश्चित रूप से अनुकरणीय हैं । हमारे सामने सोशल डिस्टेंस की सामाजिक स्थिति बनी हुई है फिर भी आप रचनात्मक कार्य करते हुए अपने आपको समाज के बीच प्रेरक संदेश दे सकते हैं। उन्होंने छात्रों द्वारा लॉकडाउन की अवधि में किए गए कार्यों की प्रशंसा की। इस मौके पर डॉ. सहर अफरोज ने कहा कि लॉकडाउन हमें एकाकीपन में भी जीने के लिए प्रेरित करता है। कुछ ऐसे काम भी हैं कि हम अकेले रहकर भी कर सकते हैं । प्रो. आरुणि कुमार ने भी अपने कार्यों की चर्चा करते हुए छात्रों की हौसला अफजाई की और कहा कि इस अवधि को रचनात्मक कार्यो में बदलना होगा। छात्रसंघ अध्यक्ष पुरुषोत्तम कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस जरूर है, लेकिन इसे हम अवसर के रूप में बदलने की क्षमता रखते हैं। संगोष्ठी का संयोजन करते हुए सांस्कृतिक समन्वयक डॉ. कुंदन कुमार ने कहा कि छात्रों से जुड़ने और उन्हें आत्मबोध कराने के लिए इस तरह के लघु संगोष्ठियों की आवश्यकता है। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/विभाकर-hindusthansamachar.in