डीजल,पेट्रोल कीमत बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

डीजल,पेट्रोल कीमत बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन
congress-demonstrated-against-diesel-petrol-price-hike

सहरसा,11 जून (हि.स.)। आसमान छूती पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों के विरोध में शुक्रवार को बस स्टैंड के समीप पेट्रोल पंप पर जिला कांग्रेस के तत्वावधान में प्रतीकात्मक प्रदर्शन किया गया। इसमें कांग्रेसजनों ने एक स्वर से मांग किया कि केंद्र सरकार अविलम्ब पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों मे कम से कम 40 प्रतिशत की कटौती करें ताकि आम लोगो को राहत प्रदान हो सके। जिला कांग्रेस के अध्यक्ष प्रो. विद्यानंद मिश्र ने कहा कि आज जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत मात्र $65 प्रति बैरल है तो किस आधार पर भाजपा नीत केंद्र सरकार लगभग एक सौ रुपये प्रति लीटर पेट्रोल और 93 रुपए डीजल आम जनता को बेच रही है। यह गौर करने की बात है कि 2013 में जब कच्चे तेल की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में प्रति बैरल $110 था यानि कि प्रति लीटर कच्चा तेल 48 रूपये था तो उस समय कांग्रेस की हुकूमत में पेट्रोल की कीमत ₹76 थी और डीजल की कीमत मात्र ₹56 उसके आधार पर अगर तय किया जाए तो आज जबकि कच्चा तेल मात्र $65 प्रति बैरल यानि कि 28 रूपये प्रति लीटर है तो 2013 के अनुसार पेट्रोल की कीमत ₹56 और डीजल की कीमत ₹36 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।अब अंदाज कीजिए कि कितना ज्यादा पैसा आम लोगों की जेब से भाजपा नीत केंद्र सरकार लूट रही है।इसका असर महंगाई पर पड़ रहा है।सरसों का तेल भी दो सौ रुपये पहुंच गया है। रोजमर्रा की सभी वस्तुएं आम आदमी के क्रय शक्ति से बाहर की बात हो गई है ।ऐसे में केंद्र सरकार को अविलंब पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कम से कम 40 प्रतिशत की कमी अवश्य करना चाहिए।साथ ही डीजल में ज्यादा कमी की जानी चाहिए क्योंकि खेती किसानी के लिए तो यह आवश्यक है ही आम जिन्दगी को बचाने के लिए यह जरूरी है। ऐसे में केंद्र सरकार सेंट्रल विस्टा क्यों निर्माण कर रही है।उसमें 22000 करोड़ रूपया क्यों फूंक रही है।उस पर भी अविलम्ब रोक लगे। लोगों का खून चूस कर सेंट्रल विस्टा का निर्माण बहुत ही गैर जिम्मेदाराना और अहंकार भरा कदम है। हिन्दुस्थान समाचार/अजय