BJP's two-day training camp started in Rajgir
BJP's two-day training camp started in Rajgir
बिहार

भाजपा का दो दिवसीय प्रशिक्षण शिवर राजगीर में शुरु

news

-ग्राम पंचायत, पंचायत समिति और जिला परिषद हर जगह भाजपा अपनी मजबूत उपस्थिति करायेगी दर्ज -त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर राष्ट्रवादी उम्मीदवार उतारने पर मंथन राजगीर/पटना, 09 जनवरी (हि.स.)। बिहार में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर आज से राजगीर में शुरु हो गया है । प्रशिक्षण शिविर में भाजपा नेताओं को साफ-साफ निर्देश दिया गया है कि पंचायत स्तर तक पार्टी को मजबूत बनाये और इस साल होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में राष्ट्रवादी उम्मीदवार को ही मैदान में उतारें। प्रशिक्षण शिविर में प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल ने कहा कि हमारा लक्ष्य केवल लोकसभा और विधानसभा चुनाव में ही मजबूत भागीदारी दिखाना नहीं है, अगर हमें सही मायने में मजबूत होना है तो उसके लिए ग्राम पंचायत, पंचायत समिति और जिला परिषद हर जगह भाजपा अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज करानी होगी। इसके लिए जनवरी माह से समर्थित मतों का ध्रुवीकरण सुनिश्चित करेंगे और गतिविधियां तेज होगी। प्रशिक्षण शिविर में बिहार भाजपा प्रभारी भूपेन्द्र यादव ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रशिक्षण भाजपा की सतत चलने वाली सांगठनिक गतिविधि का प्रमुख हिस्सा है। पार्टी कार्यकर्ताओं में संगठन बोध के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम होते हैं। यह कार्यक्रम मूल रूप से प्रशिक्षकों को प्रशिक्षण कार्यक्रम है। भाजपा हर तीन साल में इस तरह का प्रशिक्षण शिविर लगाती है, जिसका मकसद है, पार्टी और सरकार के सिद्धांतों को निचली इकाइयों के जरिये जनता तक पहुंचाना। उन्होंने बताया कि फरवरी के पहले दो सप्ताह में मंडलों में प्रशिक्षण शिविर आयोजित किया जाएगा। पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा सांसद राधा मोहन सिंह ने कहा कि पार्टी के दो दिवसीय प्रदेश प्रशिक्षण शिविर में राज्य के सभी कद्दावर नेता, संगठन के सभी बड़े नेता और केंद्र से जुड़े नेता शामिल हो रहे हैं। प्रशिक्षण शिविर में राज्यभर के लाखों कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जायेगा। जिससे संगठन बिहार में पंचायत स्तर तक मजबूत होगा। तीन चरणों में होगा प्रशिक्षण दो दिवसीय प्रशिक्षण शिवर में नीचे की इकाई तक जो प्रशिक्षक होंगे उनके प्रशिक्षण की शृंखला तय की गई है। पहले चरण में प्रदेश का, दूसरे चरण में क्षेत्रों का और अंतिम चरण में जितने भी बिहार में मंडल हैं, उनके कार्यकर्ताओं का प्रशिक्षण होगा। प्रशिक्षण शिविर में प्रशिक्षण लेने के बाद कार्यकर्ता जिला स्तर और उससे निचले स्तर पर प्रशिक्षण देंगे। दस हजार प्रशिक्षकों को तैयार करने का लक्ष्य प्रशिक्षण प्रभारी मृत्युंजय झा ने बातचीत में कहा कि इस आयोजन का असर बिहार में भाजपा के 1100 मंडलों से लेकर बूथ स्तर तक दिखेगा। 10 हजार प्रशिक्षकों को तैयार किया जाएगा, जो नीचे के स्तर पर कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करेंगे। उल्लेखनीय है कि भाजपा केंद्र से लेकर पचायंत स्तर तक आत्मनिर्भर बनना चाहती है। इसी मंत्र को लेकर बिहार में भी वह आत्मनिर्भर बिहार चाहती है। भाजपा और तेजी से बिहार में अपना विस्तार करना चाहती है। भाजपा को मालूम है कि इस बार जदयू निकाय चुनाव में सहयोगी पार्टी भाजपा से विधानसभा चुनाव का हिसाब बराबर करने के लिए रणनीति बना रही है। इसको देखते हुए दोगुनी ताकत के साथ पार्टी जोर लगाने का निर्देश इस प्रशिक्षण शिविर के माध्यम से देना चाहती है। हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द-hindusthansamachar.in