बिहार के प्री-पेड स्मार्ट मीटर योजना को केंद्र सरकार ने भी एडॉप्ट किया:मुख्यमंत्री

बिहार के प्री-पेड स्मार्ट मीटर योजना को केंद्र सरकार ने भी एडॉप्ट किया:मुख्यमंत्री
bihar39s-pre-paid-smart-meter-scheme-also-adopted-by-central-government-chief-minister

प्री-पेड स्मार्ट मीटर के लिए तेजी से काम जारी रखें, इसके लिए राशि की नहीं होगी कमी हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने के लिए विभाग तेजी से काम करें। पटना, 22 मई (हि. स.)। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 1 अणे मार्ग स्थित संकल्प में शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ऊर्जा विभाग की समीक्षा बैठक की।बैठक में ऊर्जा विभाग के सचिव संजीव हंस ने प्रस्तुतीकरण दिया। प्रस्तुतीकरण के दौरान उन्होंने ऊर्जा विभाग के अंतर्गत पूर्ण हुई योजनाओं की स्थिति, ऑन गोइंग स्कीम, एग्रीकल्चर कनेक्शन, प्री-पेड स्मार्ट मीटर, रिन्युवल एनर्जी, मुख्यमंत्री ग्रामीण सोलर स्ट्रीट लाइट योजना,जल-जीवन-हरियाली अभियान के अंतर्गत सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए किए जा रहे कार्य, डागमारा हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट एवं भविष्य में भी क्वालिटी एवं रिलायबुल पावर सप्लाई को लेकर तैयार किए गए रोडमैप की विस्तृत जानकारी दी। बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि हर घर तक बिजली का कनेक्शन पहुंचा दिया गया है। लोगों को लगातार बिजली मिल रही है। सभी लोग बिजली का सदुपयोग करें, दुरुपयोग न करें। यह पर्यावरण के हित में भी है। राज्य में लोगों को बिजली की आपूर्ति हमलोग कम दर में कर रहे हैं। वास्तविक बिजली दर के साथ-साथ राज्य सरकार द्वारा दी जा रही सब्सिडी को भी बिजली बिल में अंकित किया जाता है। राज्य में निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए हमलोग बाहर से भी बिजली खरीद रहे हैं। हमलोग लोगों की सेवा कर रहे हैं, राज्यहित में काम कर रहे हैं। हमलोगों की मांग रही है कि पूरे देश में बिजली की एक दर हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्री-पेड स्मार्ट मीटर योजना बिहार में शुरु की गई है, जिसे केंद्र सरकार ने भी एडॉप्ट किया है। उन्होंने कहा कि प्री-पेड स्मार्ट मीटर लगाने के लिए तेजी से काम जारी रखें, इसके लिए राशि की कमी नहीं होने दी जाएगी। सभी घरों में प्री-पेड स्मार्ट मीटर लग जाने से लोगों को काफी सहूलियत होगी और बिजली का दुरूपयोग भी नहीं होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने के लिए विभाग तेजी से काम करें। कजरा और पीरपैंती में सोलर प्लांट की शुरुआत करने के लिए तेजी से काम करें। इस प्लांट के शुरु होने से सौर ऊर्जा का उत्पादन बढ़ेगा, जो पर्यावरण के दृष्टिकोण से काफी अच्छा होगा। उन्होंने कहा कि डागमारा हाईड्रो इलेक्ट्रीक पावर प्रोजेक्ट भी एडवांस स्टेज में है, यह मल्टीपर्पस है। इस प्रोजेक्ट की शुरुआत होने से राज्य को काफी फायदा होगा। बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार उपस्थित थे, जबकि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, मुख्य सचिव त्रिपुरारी शरण, विकास आयुक्त आमिर सुबहानी, ऊर्जा विभाग के सचिव संजीव हंस एवं मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार जुड़े हुए थे। हिन्दुस्थान समाचार/मुरली/चंदा

अन्य खबरें

No stories found.