केंद्र सरकार से बिहार को मिले और 84 वेंटिलेटर: मंगल पांडेय
केंद्र सरकार से बिहार को मिले और 84 वेंटिलेटर: मंगल पांडेय
बिहार

केंद्र सरकार से बिहार को मिले और 84 वेंटिलेटर: मंगल पांडेय

news

पटना सिटी के कंगनघाट कोविड अस्पताल का स्वास्थय मंत्री ने किया निरिक्षण कहा, अभी तक भारत सरकार ने 448 वेंटिलेटर बिहार सरकार को उपलब्ध कराये मेडिकल कॉलेजों में संविदा पर नियुक्त चिकित्सकों का हुआ सेवा विस्तार जरूरत पड़ने पर संविदा पर और चिकित्सकों की नियुक्ति की जाएगी पटना, 31 जुलाई (हि.स.)। कोरोना पीड़ित को और अधिक सुविधा मुहैया कराने के लिए भारत सरकार ने बिहार को शुक्रवार को 84 और वेंटिलेटर उपलब्ध कराया है। इस तरह केन्द्र सरकार के अभी तक 448 वेंटिलेटर बिहार सरकार को उपलब्ध कराये गये हैं। जानकारी राज्य के स्वास्थय मंत्री मंगल पांडेय ने दी। उन्होंने बताया कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से तीसरी बार वेंटिलेटर मिले हैं। इसके पूर्व 100 और 264 वेंटिलेटर उपलब्ध कराया गया था। इसके अतिरिक्त बिहार सरकार ने भी 38 वेंटिलेटर की व्यवस्था की है। इस कोरोना काल में अभी 486 वेंटिलेटर उपलब्घ हुए हैं जिनको विभिन्न अस्पतालों में अधिष्ठापित किया गया है। इसके साथ ही भारत सरकार से और भी वेंटिलेटर शीध्र ही बिहार को मिलेगा। स्वास्थय मंत्री पांडेय लगातार कोविड अस्पतालों का निरिक्षण कर रहे हैं और वहां की व्यवस्था को देखने के साथ ही भर्ती मरीजो का कुशल क्षेम भी पूछ रहे हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को पटना सिटी के कंगणघाट स्थित टुरिस्ट इन्फॉरमेशन सेंटर में बने कोविड अस्पताल केन्द्र का निरीक्षण मंत्री ने किया। 200 बेड के इस अस्पताल में 50 बेड पर ऑक्सीजन के साथ ही अन्य आवश्यक सुविधाएं भी उपलब्घ है। यहां प्रत्येक पाली में दो चिकित्सक और तीन पारा मेडिकल स्टाफ तैनात किये गये हैं। मरीजों के लिए दवा भोजन आदि की भी प्रर्याप्त व्यवस्था की गयी है। स्वास्थय मंत्री ने यहां भर्ती मरीजों की स्थिति के बारे में चिकित्सकों से जानकारी ली। मरीज व्यवस्था से संतुष्ट दिखे। मरीजों की सुविधा के लिए 383 डॉक्टरों को सेवा विस्तार स्वास्थ्य मंत्री पांडेय ने बताया कि विभिन्न चिकित्सा महाविधालयों में इस कोरोना काल में जनता की सुविधा को देखते हुए संविदा पर नियुक्त चिकित्सकों की सेवा वधि के विस्तार का आदेश भी उनके स्तर पर विभाग को दिया गया हैं, ताकि लोगों को अस्पताल में चिकित्सा सुविधा मिलती रहे। इस क्रम में पीएमसीएच पटना में 60, एनएमसीएच पटना में 58, डीएमसीएच दरभंगा में 52, जेएलएनएमसीएच भागलपूर में 42, एसकेएमसीएच मुजफफरपुर में 48, एएनएमसीएच गया में 52, बीआईएमएस नालन्दा में 15. जीएससीएच बेतिया में 18 और मधेपूरा मेडिकल अस्पताल में 18 चिकित्सक सहित कुल 383 डाक्टरों के सेवा विस्तार को मंजूरी दी गई है। आवश्यकतानुसार जरूरत पड़ने पर संविदा पर और चिकित्सकों की नियुक्ति की जाएगी। मंगल पांडेय ने बताया कि पीएमसीएच पटना के केविड वार्ड में 72 बेडों पर ऑक्सीजन गैस पाइप लाइन की व्यवस्था और 10 बेडों पर वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्घ करा दी गई हैं। इस तराह कोरोना काल में मरीजों को ज्यादा से ज्यादा सुविधा उपलब्ध कराने की दिशा में बिहार सरकार अग्रसर हैं और इसका लाभ भी अस्पतालों में मरीजों को भरपूर मिल रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/विभाकर-hindusthansamachar.in