बिहार विधानसभा का कार्यकाल एक वर्ष के लिए बढ़ाया जाएः रमाकांत पांडेय
बिहार विधानसभा का कार्यकाल एक वर्ष के लिए बढ़ाया जाएः रमाकांत पांडेय
बिहार

बिहार विधानसभा का कार्यकाल एक वर्ष के लिए बढ़ाया जाएः रमाकांत पांडेय

news

विधानसभा का चुनाव टालने की विपक्ष की मांग को अब सत्तारूढ़ दल के नेताओं का भी समर्थन पटना, 17 जुलाई (हि.स.)। कोरोना संकट में बिहार विधानसभा का चुनाव टालने की विपक्ष की मांग को अब सत्तारूढ़ दल के नेताओं का भी खुला समर्थन मिलने लगा है। शुक्रवार को भाजपा के वरिष्ठ नेता न पूर्व विधायक डॉ. रमाकांत पांडेय ने कोरोना की महामारी को मेडिकल एमरजेंसी घोषित कर संविधान के अनुच्छेद-172 के तहत बिहार विधानसभा का कार्यकाल एक वर्ष के लिए बढ़ाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि बिहार सहित पूरे देश में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण के कारण न सिर्फ बिहार में बल्कि अगले वर्ष अन्य राज्यों में होने वाला चुनाव भी अभी ही स्थगित करने का निर्णय होना चाहिए। डॉ.पांडेय ने कहा, देश में आज कोरोना संक्रमितों की संख्या 10 लाख से अधिक और मौत का आंकड़ा 26 हजार हो गया। बिहार में भी एक सप्ताह से रोज 1300 से अधिक नये संक्रमित सामने आ रहे हैं। मौत का भी सरकारी आंकड़ा 167 हो गया है। ऐसे में लोगों की जान बचाने की मौलिक जिम्मेदारी निभाने की बजाये चुनाव की तैयारी सर्वथा गलत है। पटना विश्वविद्यालय के पूर्व प्राध्यापक डॉ.पांडेय ने कहा कि बेहतर होगा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भी 3 अगस्त से शुरू हो रहे विधानमंडल के मानसून सत्र में चुनाव टालने का प्रस्ताव पारित कर केन्द्र से अनुरोध करना चाहिए और विधानसभा का कार्यकाल 29 नवम्बर को समाप्त हो जाने के बाद अवधि विस्तार में केन्द्र सरकार की ही भूमिका होगी। इसके लिए संसद में प्रस्ताव लाकर पारित कराना है। उन्होंने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पत्र भेजकर बिहार में चुनाव टालने का साहसिक निर्णय लेने का अनुरोध करेंगे। पोस्टल बैलेट से भी चुनाव कराने पर आयोग आमादा क्यों डॉ.पांडेय ने कहा कि विशेषज्ञ भी आगाह कर रहे हैं कि आगामी महीने में संक्रमण बढेगा। एक ओर 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को घरों से निकलने की मनाही है और दूसरी ओर अधिक उम्र के वोटर के लिए पोस्टल बैलेट से भी चुनाव कराने पर आयोग आमादा क्यों है। उन्होंने कहा कि चुनाव प्रक्रिया संचालित करने के लिए आयोग बना है.सरकार को निर्णय लेना है कि चुनाव नहीं हो। चिराग पासवान भी कर चुके हैं चुनाव टालने की मांग लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान भी चुनाव टालने की मांग कर चुके हैं। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव तो लगातार कह रहे हैं कि कोरोना संकट को लेकर चुनाव के लिए समय उपयुक्त नहीं है। क्या सरकार लाशों की ढेर पर चुनाव करायेगी। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/विभाकर-hindusthansamachar.in