सेनारी नरसंहार के दोषियों के रिहाई के मामले में सुप्रीम कोर्ट जाए बिहार सरकार-डॉ पूनम

सेनारी नरसंहार के दोषियों के रिहाई के मामले में सुप्रीम कोर्ट जाए बिहार सरकार-डॉ पूनम
bihar-government-goes-to-supreme-court-in-case-of-release-of-convicts-of-senari-massacre---dr-poonam

नवादा 22 मई (हि स)। भारतीय जनता पार्टी के प्रांतीय मंत्री डॉक्टर पूनम शर्मा ने कहा है कि सेनारी नरसंहार के दोषियों को रिहा करने के मामले में बिहार सरकार सुप्रीम कोर्ट में अपील करें ।तभी 34 लोगों की जघन्य नरसंहार पीड़ितों को न्याय दिलाई जा सकती है । वे शनिवार को नवादा में पत्रकारों से बातचीत कर रही थी । प्रदेश मंत्री डॉ पूनम शर्मा ने कहा कि 18 मार्च 1999 को जहानाबाद जिले के सेनारी गांव में सत्ता संपोषित उग्रवादियों ने 34 लोगों को घर से निकाल कर हाथ-पैर बांधने के बाद गर्दन काट कर व पेट फाड़कर निर्मम हत्या कर दी थी ।इस मामले में जहानाबाद कोर्ट ने 20 नवंबर 2016 को 13 अभियुक्तों को दोषी करार दिया था । जिसमें 10 को फांसी की सजा दी गई थी, 03 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। पटना उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति ने सुनवाई के दौरान सभी दोषियों को रिहा करने के आदेश दिए हैं । डॉक्टर पूनम ने कहा है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शीघ्र ही हत्या के शिकार 34 लोगों के पीड़ितों को न्याय दिलाने के उद्देश्य से सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाये। नहीं तो निश्चित तौर पर इस मामले के विरुद्ध फूटा गुस्सा आंदोलन का रूप धारण कर लेगी ।उन्होंने भाजपा के प्रांतीय अध्यक्ष डॉक्टर जायसवाल के इस मांग का समर्थन करते हुए कहा है कि निश्चित तौर पर सरकार को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाना चाहिए । तभी प्राकृतिक न्याय पीड़ित परिजनों को मिल सकती है। हिन्दुस्थान समाचार/डॉ सुमन/चंदा