बिहार पुलिस ने बढ़ाई रिया पर अपनी दबिश
बिहार पुलिस ने बढ़ाई रिया पर अपनी दबिश
बिहार

बिहार पुलिस ने बढ़ाई रिया पर अपनी दबिश

news

सबूतों के आधार पर कोर्ट से वारंट लेने के प्रयास में जुटी बिहार पुलिस पटना पुलिस की एक और टीम जल्द ही मुंबई हो सकती है रवाना पटना, 31 जुलाई (हि.स.) । अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में पटना में दर्ज एफआइआर के आधार पर जांच के लिए बिहार पुलिस ने सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती पर दबिश बढ़ा दी है। इस बीच रिया भी पूछताछ व गिरफ्तारी से बचने के लिए लगातार अपना ठिकाना बदल रही है। बिहार पुलिस रिया के खिलाफ ठोस सबूत इकट्ठा कर कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट लेने की कोशिश में है। उल्लेखनीय है कि बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत विगत 14 जून को मुंबई स्थित अपने फ्लैट में मृत पाए गए थे। इस मामले में सुशांत के पिता केके सिंह ने बेटे की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के खिलाफ धन उगाही, ब्लैकमेल, प्रताड़ना व सुसाइड के लिए उकसाने सहित कई गंभीर आरोपों में पटना के राजीव नगर थाने में एफआइआर दर्ज कराई है। पटना पुलिस की टीम इसी सिलसिले में मुंबई गई है। सुशांत मामले में मुंबई में जांच कर रही बिहार पुलिस की टीम को कई अहम जानकारियां मिली हैं। पुलिस सूत्रों की मानें तो रिया चक्रवर्ती तक पहुंचने के लिए पुलिस अभी सभी आरोपों से जुड़े ठोस सबूत जुटा रही है। पुलिस अपनी जांच में बैंक से जुड़े दस्तावेज को अहम मान रही है। सबूत जुटाने के बाद बिहार पुलिस रिया की गिरफ्तारी वारंट के लिए कोर्ट में अर्जी देगी। इसके बाद पटना पुलिस यहां से महिला इंस्पेक्टर और महिला पुलिसकर्मियों की टीम को मुंबई रवाना करेगी। फिलहाल, पटना पुलिस की टीम रिया चक्रवर्ती को पूछताछ के लिए खोज रही है, लेकिन उसने परिवार के साथ अपना ठिकाना बदल दिया है। वे लोग गिरफ्तारी के डर से भूमिगत हो गए बताए जा रहे हैं। एक और पुलिस टीम मुंबई भेजने की तैयारी बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने शुक्रवार को बिहार पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक कर सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले की जांच की रणनीति पर विचार किया है। पुलिस सूत्र बताते हैं कि इस मामले में बिहार पुलिस की एक और टीम पटना के सीनियर अफसर के नेतृत्व में मुंबई भेजने की तैयारी चल रही है। इस टीम में एक आइपीएस रैंक के अफसर को भी भेजा जा सकता है। हालांकि, वरिष्ठ अधिकारी अभी इस बाबत कुछ भी खुलकर बोलने से बच रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव रंजन /विभाकर-hindusthansamachar.in