पटना में सार्वजनिक धार्मिक आयोजन पर रोक

पटना में सार्वजनिक धार्मिक आयोजन पर रोक
ban-on-public-religious-event-in-patna

पटना, 14 अप्रैल (हि.स.)। पटना के जिलाधिकारी (डीएम) डॉक्टर चंद्रशेखर सिंह ने बुधवार को जिला प्रशासन की महत्वपूर्ण बैठक में कहा कि कोरोना महामारी को देखते हुए रमजान के पवित्र महीने में भी जुमे की नमाज के सार्वजनिक आयोजन पर रोक रहेगी। साथ ही पटना में चैती छठ से लेकर रामनवमी पूजा तक किसी भी तरह के सार्वजनिक आयोजन की इजाजत नहीं होगी। बैठक में वरिष्ठ आरक्षी अधीक्षक (एसएसपी) उपेंद्र कुमार शर्मा भी मौजूद रहे। जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने कोरोना महामारी के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए जनहित में सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ नहीं लगाने और लोगों से घरों में ही पूजा करने को कहा है ताकि संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके। उन्होंने कहा कि सरकारी दिशा निर्देश के अनुरूप अभी सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार के आयोजन पर रोक है। साथ ही सभी धार्मिक स्थल आमजनों के लिए बंद हैं। डीएम ने अधिकारियों को नियमों को सख्ती से लागू करने का निर्देश भी दिया। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को वार्ड पार्षदों और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर प्रतिबंधों की जानकारी देने को निर्देश दिया। साथ ही इससे संबंधी फ्लेक्स घाटों पर लगाने का निर्देश दिया ताकि लोगों को पूर्व से ही इसकी जानकारी रहे और लोग सुरक्षित अपने घरों में ही छठ पूजा करें। उन्होंने कहा कि रामनवमी के अवसर पर कोई जुलूस नहीं निकाले जाएंगे। सार्वजनिक स्थल पर रामनवमी पूजा का आयोजन नहीं होंगे। इसके अतिरिक्त जुमे की नमाज सार्वजनिक स्थल-मस्जिद में अदा नहीं करनी है। लोग घरों में ही जुमे की नमाज अदा करें। हिन्दुस्थान समाचार/ गोविन्द/चंद्र