आरा नगर निगम की हड़ताल ने बिगाड़ी शहर की सूरत

आरा नगर निगम की हड़ताल ने बिगाड़ी शहर की सूरत
ara-municipal-corporation-workers39-strike-spoiled-the-appearance-of-the-city

आरा,30 जून(हि. स)।आरा नगर निगम के सफाईकर्मियों की अनवरत जारी हड़ताल के कारण आरा शहर की सडको और चौक चौराहों पर गंदगी का अंबार लग गया है। आरा के बाजारों, सार्वजनिक स्थानों,चौक चौराहों पर गंदगी और कूड़े कचरे के ढेर से महामारी फैलने की आशंका बढ़ गई है। नगर निगम के सफाईकर्मी अपने बकाए वेतन भुगतान को लेकर कई दिनों से हड़ताल पर चले गए हैं।

सफाईकर्मियों के हड़ताल पर जाने के बाद आरा शहर की सफाई व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। भोजपुर जिले में आरा नगर निगम के सफाई कर्मियों की हड़ताल बुधवार को भी जारी है जिससे शहर में साफ सफाई की समस्या उत्पन्न हो गई है। बता दें कि नगर आयुक्त के अस्वस्थ होने के कारण सफाई कर्मियों का मई 2021 से भुगतान लंबित है।

नगर आयुक्त के अस्वस्थ होने के कारण जिलाधिकारी द्वारा सदर एसडीओ वैभव श्रीवास्तव को नगर आयुक्त का प्रभार दिया गया है, जिसमें राज्य स्तर से अनुमोदन एवं वित्तीय शक्ति प्राप्त होना बाकी है। सफाईकर्मियों की हड़ताल को लेकर बुधवार को प्रशासनिक स्तर पर वार्ता हुई है।

आरा नगर निगम के प्रभारी नगर आयुक्त द्वारा सफाई कर्मियों के सभी प्रतिनिधियों के साथ बैठक की गई एवं उन्हें आश्वासन दिया गया कि 7 जुलाई तक मई और जून दोनों महीना का मानदेय भुगतान कर दिया जाएगा, तब तक राज्य स्तर से वित्तीय शक्ति एवं पद के प्रभार का अनुमोदन भी प्राप्त करने की कार्रवाई कर ली जाएगी। इसके बाद हड़ताल करने वाले सफाई कर्मियों से भी वार्ता की गई एवं हड़ताल समाप्त करने के लिए अपील की गई।

प्रस्ताव से अधिकांश सफाई कर्मी सहमत थे परंतु कुछ लोगों के नहीं सहमत होने के कारण हड़ताल समाप्त नहीं की जा सकी। प्रभारी नगर आयुक्त द्वारा सभी सफाई कर्मियों को वर्तमान महामारी के समय में बढ़ते गंदगी को रोकने के उद्देश्य एवम कार्य के महत्व को समझाया गया और यह अपील की गई कि वे अविलंब कार्य पर लौट जाएं । यह भी आश्वासन दिया गया कि प्रत्येक महीने की उपस्थिति के आधार पर हर महीने की 5 तारीख तक भुगतान कर दिया जाएगा। एक जुलाई के बाद से कार्य पर अनुपस्थित सफाई कर्मियों को नो वर्क नो पे के तर्ज पर मानदेय भुगतान नहीं किया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र

अन्य खबरें

No stories found.