along-with-corona-the-kitchen-budget-is-also-making-people-cry
along-with-corona-the-kitchen-budget-is-also-making-people-cry
बिहार

कोरोना के साथ-साथ रसोई का बजट भी रुला रहा लोगों को

news

पटना,26 अप्रैल (हि.स.)।राजधानी पटना सहित पूरे राज्य में एतरफ कोरोना की मार से आमलोग त्रस्त हैं तो इसके साथ ही रसोई का बजट भी लोगों को रुला रहा है। खाद्य पदार्थों की कीमतों में जोरदार उछाल आया है। जो खाद्य तेल 105 रुपये प्रति लीटर था उसकी कीमत बढ़कर 175 रुपये प्रति लीटर हो गई है। चीनी की कीमत 38 रुपए से बढ़कर 42 रुपये किलोग्राम हो गयी है। यह तब है जब कोरोना की दूसरी लहर में परिवहन को छूट दी गई है। कोई भी सामान लेकर आने -जाने में किसी प्रकार की पाबंदी नहीं है। इस तरह लोग अब कोरोना के साथ ही महंगाई की भी मार झेलने को विवश हैं। पटना में डाकबंगला स्थित किराना व्यवसायी धीरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि सरसों तेल के साथ ही रिफाइंड तेल, दाल, मसाला तक के दाम बढ़ गये हैं। हालांकि थोक मंडी में किसी भी सामान की कमी नहीं है। कोरोना को लेकर ड्राइ फूट के भी दाम बढ़ गये हैं। इतना ही नहीं ,आलू, प्याज, नींबू, परवल, कटहल, धनिया व अदरक की कीमतों में भी उछाल आया है। इसके कारण थाली से हरी सब्जी गायब हो गई है। फ्रेजर रोड में रहने वाली गृहिणी साधना मिश्र ने बताया कि खाद्य सामान से लेकर हरी सब्जी तक महंगी होने से घर का बजट गड़बड़ा गया है। तेल, मसाला, दाल एवं सब्जी के दाम बढ़ गये हैं। सरकार जमाखोरों पर लगाम लगाए। खाद्य पदार्थ - पहले - अब अरहर दाल - 80 - 100 किलो चना दाल - 60 - 70 किलो रिफाइन - 100 - 155 लीटर जीरा - 160 - 175 लौंग - 160 - 175 पोस्ता दाना - 1000 - 1800 सरसों तेल - 105 - 175 लीटर आटा - 21 - 24 किलो चीनी - 38 - 42 किलो हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द/विभाकर