बिहार के 17 लाख मजदूरों को मिलेगा प्रधानमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ: जिवेश मिश्र

बिहार के 17 लाख मजदूरों को मिलेगा प्रधानमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ: जिवेश मिश्र
17-lakh-laborers-of-bihar-to-get-benefit-of-pradhan-mantri-swasthya-bima-yojana-jivesh-mishra

पटना, 29 अप्रैल (हि.स.)। बिहार सरकार में श्रम संसाधान मंत्री जिवेश कुमार मिश्रा ने कहा कि श्रम संसाधन विभाग के अंतर्गत कार्यरत “बिहार भवन सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड” से निबंधित कामगारों को एक मई (मजदूर दिवस) से आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ मिलेगा। मंत्री जिवेश मिश्र ने गुरुवार को यहां कहा कि विभाग ने निबंधित 16 लाख 80 हजार 125 कामगारों के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार को 110 करोड़ 90 लाख प्रीमियम की राशि भेज दी है। योजना के तहत निबंधित कामगार और उनके परिवारजन पांच लाख रुपये तक का नि:शुल्क इलाज करा सकेंगे। जिवेश कुमार ने आश्वत किया कि अपने विभाग के कर्मियों के हर संभव मदद के लिए तत्पर रहने के साथ प्रदेश के श्रमिकों एवं युवाओं के हित के लिए निरंतर क्रियाशील है और पूरी तन्मयता के साथ अग्रेतर करवाई करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर अब काफी तेजी से फैल रही है। इसके मद्देनजर हम सभी को टीकाकरण कराने के साथ अपने को सुरक्षित रखना आवश्यक है। ऐसे में हमारी सतर्कता और बचाव ही हमें संक्रमण से बचा सकती है। श्रम संसाधन विभाग के कर्मी पूरी तन्मयता से कामगारों के हितों के रक्षार्थ अपना कर्तव्य का निर्वहन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार ने देश में अप्रैल 2020 में गठित 20 नियंत्रण कंट्रोल रूम फिर से चालू कर दिया है, जिसका मकसद मुख्य श्रम आयुक्त कार्यालय के तहत विभिन्न राज्य सरकारों के साथ समन्वय के जरिये प्रवासी श्रमिकों की समस्या का समाधान करना है। बिहार का कंट्रोल रूम पटना में कार्यरत है, जिसका टॉल फ्री नंबर 18003456138 है। कामगार या प्रवासी जो लौटकर आ रहे हैं वे कॉल कर अपनी समस्या बता सकते हैं। अधिकारी व कर्मी लोगों के पूछे गये सवालों का जवाब देंगे और उनकी सहायता करेंगे। यह नंबर 24 घंटे काम करेगा। उप सचिव के निधन पर जताया शोक जिवेश कुमार ने विभाग के उप सचिव सूर्यकान्त मणि एवं उद्योग विभाग के निदेशक पंकज कुमार के असामयिक निधन पर शोक जताते हुए कहा कि 'स्व. मणि हमारे विभाग के कर्मठ और योग्य अधिकारी थे। उनके निधन से विभाग को बड़ी क्षति हुई है। वे बड़े ही मिलनसार और मृदुभाषी के साथ अपने कार्य के प्रति निष्ठावान थे। मैं उनके आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना करता हूं और ऐसे समय में उनके परिवार के साथ हूं। शोक संतप्त परिवार को इस संकट से उबरने में जो आवश्यक सहयोग बन पड़ेगा करने को तैयार हूं'। हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द/चंद्र