15-killed-in-nawada-as-a-result-of-government-funded-crime-like-illegal-liquor-sale-dr-arun
15-killed-in-nawada-as-a-result-of-government-funded-crime-like-illegal-liquor-sale-dr-arun
बिहार

अवैध शराब बिक्री जैसे सत्ता सम्पोषित अपराध का परिणाम है नवादा में 15 की मौत:डॉ अरुण

news

नवादा,16 अप्रैल (हि.स.)।भारतीय सब लोग पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जहानाबाद के पूर्व सांसद डॉ.अरुण कुमार ने कहा है कि नवादा में अवैध शराब बिक्री जैसे सत्ता संपोषित अपराध का परिणाम ही जहरीली शराब से 15 लोगों की मौत है।वे मंगलवार को नवादा जिले के सिसवां सहित विभिन्न गांव में जहरीली शराब से मारे गए लोगों के परिजनों से मिलने के बाद नवादा में एक प्रेस वार्ता को संबोधित कर रहे थे। डॉ अरुण कुमार ने कहा कि नवादा ही नहीं बल्कि पूरे बिहार में थाने की मिलीभगत से अवैध शराब की बिक्री जारी है। भले ही सरकार को 12000 करोड़ रुपये का सालाना नुकसान हो रहा है। लेकिन सत्ता में बैठे इस धंधे के संरक्षक 25000 करोड़ सालाना कमाई कर रहे हैं । इसी का परिणाम जहरीली शराब से नवादा में 15 लोगों की मौत है ।डॉ अरुण ने कहा कि जदयू के नेता को उत्पाद आयुक्त के रूप में वरिष्ठ प्रशासनिक पदाधिकारी के के पाठक ने शराब के माफियागिरी में गिरफ्तार करा लिया था ।उन्हें सरकार के दबाव के कारण छुट्टी में जाना पड़ा था। पूरे बिहार के लोग जानते हैं कि शराब पाबंदी के बावजूद बहुत आसानी से बिहार में हर जगह शराब उपलब्ध है । उन्होंने कहा कि पुलिस की मिलीभगत से सत्ता में बैठे मुख्यमंत्री के कुछ कारिंदे छोट भैये नेता लोग अवैध शराब बिक्री को संचालित करा रहे हैं ।उन्होंने बिहार के मुख्य न्यायाधीश से आग्रह किया है कि स्वत संज्ञान लेकर इस मामले की न्यायिक जांच करा कर दोषियों को दंडित करने की कृपा करें ।ताकि अवैध शराब से मौत के शिकार लोगों के परिजनों को न्याय मिल सके। उन्होंने इस मामले के विरुद्ध व्यापक अभियान चलाने की बात भी कही ।इस अवसर पर अधिवक्ता अरविंद शर्मा ,अनिल कुमार सिंह आदि उपस्थित थे । हिन्दुस्थान समाचार/डॉ सुमन