सही डाटा अपलोड नही होने से गया सबसे गंदा शहर घोषित
सही डाटा अपलोड नही होने से गया सबसे गंदा शहर घोषित
बिहार

सही डाटा अपलोड नही होने से गया सबसे गंदा शहर घोषित

news

गया, 21 अगस्त (हि.स.) ।स्वच्छ भारत सर्वेक्षण रिपोर्ट-2020 के अनुसार गया शहर को सबसे गंदा शहर घोषित किया गया है। मेयर गणेश पासवान, डिप्टी मेयर मोहन श्रीवास्तव सहित अन्य जनप्रतिनिधि गया को सबसे गंदा शहर घोषित किए जाने पर कुछ अलग हटकर बचाव करते नजर आ रहे हैं। जनप्रतिनिधियों का कहना है कि सच्चाई से परे होकर इस तरह की रिपोर्ट बनाई गई है। निगम के कुछ जिम्मेवार अधिकारियों ने सही डाटा अपलोड नहीं किया जिसके कारण गया शहर को सबसे गंदा शहर घोषित किया गया। इसे लेकर मेयर गणेश पासवान ने कहा कि शहर में व्यापक तौर पर साफ सफाई का अभियान चलाया गया है। कुछ अधिकारियों ने सर्वेक्षण टीम को सही डाटा नहीं दिया । निगम के कार्यों के बारे में भी सही जानकारी नहीं दी गई। जिसके कारण शहर को सबसे गंदा शहर घोषित किया गया। इसे लेकर हम लोगों में मायूसी है। उन्होंने कहा कि ऐसे अधिकारियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उनका वेतन भी रोका जाएगा। इस संबंध में डिप्टी मेयर मोहन श्रीवास्तव ने कहा कि विगत कई माह से व्यापक पैमाने पर सफाई अभियान चल रहा है। शहर की प्रमुख सड़कों पर कहीं भी कूड़ा-कचरा नहीं है। बावजूद इसके गया को सबसे गंदा शहर घोषित किया गया। इसके लिए नगर निगम के प्रबंधक विष्णु प्रभाकर लाल, नगर निगम के कनीय अभियंता दिनकर प्रसाद व उप नगर आयुक्त मो. साहब अहिया दोषी हैं । सर्वेक्षण करने आई टीम को इन तीनों लोगों ने गलत डाटा दिया ग। नगर निगम के व्यापक अभियान एवं नगर निगम के उपकरणों के बारे में सही जानकारी नहीं दी जिसकी वजह से गया शहर को सबसे गंदा शहर घोषित किया गया। उन्होंने कहा कि ऐसे अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से मुक्त करने के लिए नगर आयुक्त को अनुशंसा की गई है। इसके बावजूद इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है तो स्टैंडिंग कमिटी में इनके खिलाफ कठोर निर्णय लिया जाएगा। इस संबंध में नगर आयुक्त सावन कुमार ने बताया कि सबसे गंदा शहर घोषित होने से सभी लोग दुखी हैं। नगर निगम के द्वारा शहर में व्यापक कार्य किए जा रहे हैं। निगम के कुछ अधिकारियों ने सही डाटा अपलोड नहीं किया जिसकी वजह से यह हुआ है। हमारा प्रयास होगा कि अगले वर्ष गया शहर को सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया जाए। हिंदुस्थान समाचार/ पंकज कुमार/विभाकर-hindusthansamachar.in