सरकार के पास ना डेटा है, ना बेरोजगारी दूर  करने की नीति : कन्हैया
सरकार के पास ना डेटा है, ना बेरोजगारी दूर करने की नीति : कन्हैया
बिहार

सरकार के पास ना डेटा है, ना बेरोजगारी दूर करने की नीति : कन्हैया

news

बेगूसराय, 17 सितम्बर (हि.स.)। जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता डॉ. कन्हैया कुमार ने एक बार फिर गुरुवार को सरकार पर जोरदार हमला किया । कन्हैया ने कहा है कि युवाओं को सालाना दो करोड़ नौकरी देने का झांसा देने वाली सरकार ने लगातार अपनी नीतियों से लघु एवं मंझोले उद्योगों को बर्बाद किया है। सरकारी उपक्रमों का निजीकरण किया है। नतीजतन बड़ी उम्मीदों के साथ इस सरकार को वोट देने वाले युवा भी आज राष्ट्रीय बेरोजगारी दिवस मनाने पर विवश हो गए हैं। उन्होंने कहा आलम यह है कि सरकार के पास ना बेरोजगारों का कोई डेटा है ना बेरोजगारी दूर करने की कोई नीति। हैं तो बस जुमले, नफरत और दुष्प्रचार के षड़यंत्र और राग दरबारी मीडिया की ध्यान भटकाओ योजना। अफसोस की बात यह है कि देश को इसकी बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/विभाकर-hindusthansamachar.in