सभी तरह के बकाया भुगतान में लाएं तेजी, लंबित रहने पर होगी कार्रवाई: सिविल सर्जन
सभी तरह के बकाया भुगतान में लाएं तेजी, लंबित रहने पर होगी कार्रवाई: सिविल सर्जन
बिहार

सभी तरह के बकाया भुगतान में लाएं तेजी, लंबित रहने पर होगी कार्रवाई: सिविल सर्जन

news

- सारण में सिविल सर्जन ने अस्पतालों का किया औचक निरीक्षण - अनुपस्थित पाए गए दो दर्जन से अधिक चिकित्साकर्मी - अनुपस्थित चिकित्सा कर्मियों के वेतन पर रोक, स्पष्टीकरण पूछने का आदेश छपरा, 5 नवम्बर (हि.स.) । सिविल सर्जन डा. माधवेश्वर झा ने गुरुवार को जिले के कई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, रेफरल अस्पतालों तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान करीब दो दर्जन चिकित्सा कर्मियों को कर्तव्य से अनुपस्थित पाया गया। सिविल सर्जन ने बताया कि अनुपस्थित पाए गए चिकित्सा कर्मियों को 24 घंटे के अंदर स्पष्टीकरण का जवाब देने का आदेश दिया गया है तथा उनके वेतन पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है। इस दौरान जिला स्वास्थ्य कार्यक्रम प्रबंधक अरविंद कुमार भीम मौजूद थे। सिविल सर्जन ने दरियापुर, सोनपुर, नयागांव, दिघवारा समेत अन्य प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। सोनपुर में तीन लिपिक, चिकित्सक तीन ग्रेड ए नर्स, दो अन्य चिकित्सा कर्मी अनुपस्थित पाए गये। सिविल सर्जन ने बताया कि सोनपुर में डॉक्टर ब्रजकिशोर यादव, डॉक्टर आलोक राज, डॉ अनुभव, डॉक्टर जेएस समीरा, डॉक्टर संतोष कुमार तथा ग्रेड ए नर्स वीर बाला, बबीता कुमारी, रंजना कुमारी, एक्स-रे टेक्निशियन शिवांगी भारती, लिपिक बृज किशोर शर्मा, राजीव कुमार तथा सरोज कुमार वर्मा को कर्तव्य से अनुपस्थित पाया गया। इसके अलावा दिघवारा, नयागांव तथा दरियापुर में भी कई चिकित्सा कर्मी अनुपस्थित पाए गये। उन्होंने बताया कि कर्तव्य से अनुपस्थित पाए गए चिकित्सा कर्मियों के स्पष्टीकरण का जवाब संतोषजनक नहीं होने पर उनके विरुद्ध विभागीय कार्रवाई की जाएगी तथा कार्रवाई के लिए सरकार को लिखा जायेगा। इस दौरान उन्होंने ड्यूटी पर मौजूद चिकित्सकों तथा कर्मचारियों को अस्पताल की सफाई व्यवस्था को बेहतर बनाने का निर्देश दिया। सोनपुर में मरीजों के उपचार में लापरवाही की शिकायतों पर चिकित्सा कर्मियों को कड़ी फटकार लगायी। वहीं दरियापुर में अस्पताल की सफाई व्यवस्था को दुरुस्त करने का निर्देश दिया। साथ ही बायोमेडिकल वेस्ट के समुचित प्रबंधन करने को कहा। अस्पतालों में बेड पर चादर लगाने तथा दवाओं की सूची अपडेट करने का भी निर्देश दिया। सिविल सर्जन ने स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े सभी कार्यक्रमों के कार्यान्वयन में तेजी लाने का निर्देश दिया और कहा कि हर हाल में चिकित्सा कर्मियों की उपस्थिति ससमय सुनिश्चित करें। उन्होंने परिवार नियोजन तथा कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच की भी समीक्षा की। साथ ही जननी बाल सुरक्षा योजना और परिवार नियोजन के तहत किए जाने वाले भुगतान में तेजी लाने का निर्देश दिया। हिन्दुस्थान समाचार / गुड्डू/विभाकर-hindusthansamachar.in