सब मिलकर मनाएं सनातन परंपरा का अनोखा महापर्व छठ : गिरिराज सिंह
सब मिलकर मनाएं सनातन परंपरा का अनोखा महापर्व छठ : गिरिराज सिंह
बिहार

सब मिलकर मनाएं सनातन परंपरा का अनोखा महापर्व छठ : गिरिराज सिंह

news

बेगूसराय, 18 नवम्बर (हि.स.)। केंद्रीय मंत्री और बेगूसराय के सांसद गिरिराज सिंह ने लोगों से मिलजुल कर छठ मनाने की अपील किया है। उन्होंने कहा है कि महापर्व छठ की अपनी एक सुंदरता है और इसमें एक विश्वास है। इस महापर्व को सभी समुदाय, जात-पंथ के लोग मनाते है और समाज के सभी अंगों के सहयोग से पूजा संपन्न होता है। केंद्रीय मंत्री सिंह ने कहा कि पृथ्वी पर डूबते सूर्य की पूजा का एकमात्र पर्व, छठ व्रत अब केवल बिहार या पूर्वी उत्तर प्रदेश ही नहीं पूरे देश में मनाया जाता है। यह एक ऐसा व्रत है जो सब लोग मिलकर मनाते हैं, इसलिए हर लोग इसमें जुड़ते जा रहे हैं। कुंभकार हों या सूप बनाने वाले समाज के निचले पायदान पर रहने वाले हों या फल बेचने वाले समाज के हर बार का छठ में जुड़ाव है। समाज के कमजोर से लेकर मजबूत तक हर वर्ग इसमें शामिल होते हैं। उन्होंने कहा कि यह पर्व इतना अनुशासन का है कि सब लोग मिलजुल कर गलियों को, सड़कों को और घाटों को साफ करते हैं। बिहार में तो दो दिन तक क्राइम का रेट गिर जाता है। क्राइम करने वाले भी सूर्य भगवान के डर से क्राइम नहीं कर सेवा भाव में लग जाते हैं। दुनिया में सनातन ही एक ऐसा धर्म है जिसमें डूबते सूर्य की पूजा करने के लिए छठ मनाया जाता है। उगते सूर्य को तो सब पूजते ही हैं, लेकिन डूबते सूर्य की पूजा करना सनातन परंपरा की, हिन्दू धर्म की एक अनोखी परंपरा है, इसे इसी रूप में देखा जाना चाहिए। हमारे यहां पहले मुस्लिम समाज के लोग भी यह व्रत मनाते थे, लेकिन अब कट्टरवादिता आ गयी है, जिससे वे लोग नहीं करते हैं, नहीं तो वह भी मिलकर मनाते थे। आस्था के इस महापर्व को हम सब मिलकर अच्छे से मनाएं, खुशियों से मनाएं। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/रामानुज-hindusthansamachar.in