सत्यनिष्ठा के साथ बनें सुशासन का ब्रांड एंबेसेडर, हितधारकों को करें जागरूक : शुक्ला मिस्त्री
सत्यनिष्ठा के साथ बनें सुशासन का ब्रांड एंबेसेडर, हितधारकों को करें जागरूक : शुक्ला मिस्त्री
बिहार

सत्यनिष्ठा के साथ बनें सुशासन का ब्रांड एंबेसेडर, हितधारकों को करें जागरूक : शुक्ला मिस्त्री

news

बेगूसराय, 31 अक्टूबर (हि.स.)। ब्रह्माकुमारी मुंबई एवं यूको बैंक पटना के सहयोग से बरौनी रिफाइनरी ने कर्मचारियों और परिवार के सदस्यों को जागरूक करने के उद्देश्य से 'सतर्क भारत-समृद्ध भारत' विषय पर ऑनलाइन सतर्कता जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए कार्यपालक निदेशक और रिफाइनरी प्रमुख शुक्ला मिस्त्री ने कहा कि इंडियन ऑयल भ्रष्टाचार से लड़ने और सर्वोत्तम प्रणालियों और प्रक्रियाओं के माध्यम से कामकाज में पारदर्शिता और जवाबदेही को बढ़ाने के लिए प्रभावी निवारक उपायों को अपनाता है। हमने डिजिटलीकरण की ओर रुख किया है, मानक संचालन प्रक्रियाओं को अपनाया है, मौजूदा प्रक्रियाओं को सरल बनाया है। उन्होंने कहा कि गैर-मूल्य वर्धित गतिविधियों को समाप्त किया है और ग्राहकों की संतुष्टि के लिए नीतियों में सुधार किया है। मजबूत सत्यनिष्ठा के साथ हम सब सुशासन का ब्रांड एंबेसेडर बनें और अपने हितधारकों को जागरूक करें। उन्हें यह संदेश दें कि हम स्वतंत्र, निष्पक्ष और पारदर्शी रूप से राष्ट्र की सेवा के लिए प्रतिबद्ध हैं। आज जब दुनिया एकीकृत वैश्विक संकट का सामना कर रही है, तो इस अवसर पर हम सभी अपने अंदर झांकें, सुधार की गुंजाइश की पहचान करें और अपने ग्राहकों को बेहतर और प्रभावी सेवाएं प्रदान करने पर काम करें। दोनों संस्थानों के संकाय का स्वागत करते हुए सतर्कता उप महाप्रबंधक एम.एल. कुमार ने कहा कि हमें अपने कार्यकलापों में ईमानदारी, सत्यनिष्ठा और पारदर्शिता के महत्व को प्रसारित करना है। इसलिए कर्मचारियों, उनके आश्रितों, सीआईएसएफ कर्मियों, स्कूल और कॉलेज के छात्रों एवं नागरिकों के बीच सतर्कता जागरूकता के लिए कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है। पहला सत्र भ्रष्टाचार के कारणों के निवारण के लिए आत्मावलोकन पर केंद्रित था जिसमें बीके गिरीश भाई कहा कि जीवन बहुत तेजी से आगे बढ़ता है। यदि आप रुकते नहीं हैं और थोड़ी देर अपने चारों ओर नहीं देखते हैं, तो आप इससे चूक सकते हैं। अधिकतर तनाव आपके जवाब देने के तरीके से आते हैं, न कि इससे कि यह जीवन कैसा है। आप चीजों को कैसे देखते हैं, अपना दृष्टिकोण बदलें। दूसरा सत्र डिजिटल धोखाधड़ी और डिजिटल रूप से जागरूकता के उपाय पर था। जिसका संचालन करते हुए यूको बैंक के बिहार जोनल हेड रमेश दुबे ने नवीनतम बैंक धोखाधड़ी और जालसाजी से बचने और बैंक लेनदेन को सुरक्षित रखने के उपाय साझा किए। तीसरे सत्र का संचालन करते हुए सतर्कता उप महाप्रबंधक एमएल कुमार ने इंडियन ऑयल के केस अध्ययनों को साझा किया जिनकी सतर्कता विभाग द्वारा जांच की गई थी। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/हिमांशु शेखर/विभाकर-hindusthansamachar.in

AD
AD