विषाद से सकारात्मक सोच और शारीरिक रूप से स्वास्थ्य रहना जरूरी : मसरूर जहान
विषाद से सकारात्मक सोच और शारीरिक रूप से स्वास्थ्य रहना जरूरी : मसरूर जहान
बिहार

विषाद से सकारात्मक सोच और शारीरिक रूप से स्वास्थ्य रहना जरूरी : मसरूर जहान

news

गया, 14 अक्टूबर (हि.स.) ।दुनिया भर में इस सप्ताह मनाए जा रहे है 'विश्व मानसिक स्वास्थ्य' दिवस को दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) में भी बुधवार को विशेष तौर पर मनाया गया । विवि के मनोविज्ञान विज्ञान विभाग की ओर से एक विशेष व्याख्यान का आयोजन किया गया जिसमें प्राध्यापकों के साथ - साथ मनोविज्ञान से जुड़े विशेषज्ञों ने भाग लिया। उन्होंने बताया कि मनोविज्ञान विभाग के तत्वावधान में ' सकारात्मक मानसिक स्वास्थ्य : आवश्यकता एवं चुनौतियां" शीर्षक पर ऑनलाइन वेबिनार का आयोजन किया गया।मनोविज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. धर्मेंद्र कुमार सिंह के नेतृत्व में वेबिनार का संचालन विभाग की सहायक प्राध्यापिका डा. दास अम्बिका भारती ने किया। विभाग के अन्य प्राध्यापकों डा. नरसिंह कुमार, डा. मंगलेश कुमार मंगलम एवं डा. चेतना जायसवाल ने भी वेबिनार आयोजित करने में अहम भूमिका निभाई और अपने विचार साझा किए। वेबिनार की मुख्य वक्ता डा. मसरूर जहान, एडिशनल प्रोफेसर, रांची इंस्टिट्यूट ऑफ न्यूरो - साइकियाट्री एन्ड अलाइड साइंसेज ने अपने संबोधन में मानसिक स्वास्थ्य के सभी पहलुओं पर ध्यान आकर्षित करते हुए वर्तमान समय में इसकी प्रासंगिकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि किस तरह सकारात्मक सोच एवं जीवन कौशल से विषाद तथा आत्महत्या जैसी मनोवृति एवं घटनाओं को कम किया जा सकता है। डॉ. जहान ने मानसिक स्वास्थ्य एवं सोशल मीडिया, विज्ञान प्रौद्योगिकी के विभिन्न आयामों पर विस्तृत चर्चा की। साथ ही उन्होंने मेन्टल हेल्थ केयर एक्ट 2017 के वैधानिक एवं व्यावहारिक पक्ष को विस्तार से समझाया।उन्होंने अपने व्याख्यान में मानसिक स्वास्थ्य से जुड़े विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा करने के साथ मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी चुनौतियों का सामना करने के लिए बहुमूल्य टिप्स भी साझा किया | उन्होंने मानसिक विकार से बचने के लिए सकारात्मक सोच एवं शारीरिक स्वास्थ्य पर बल दिया। व्याख्यान में विभाग के प्राध्यापकों एवं विद्यार्थियों के साथ - साथ अन्य विभागों के प्रोफेसर एवं छात्रों ने भाग लिया।ज्ञात हो कि हर वर्ष 10 अक्टूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष का थीम ' मेन्टल हेल्थ फॉर ऑल : ग्रेटर इन्वेस्टमेंट - ग्रेटर एक्सेस ' है। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज कुमार/विभाकर-hindusthansamachar.in