लोकतंत्र में जनता होती है मालिक: नंदकिशोर यादव
लोकतंत्र में जनता होती है मालिक: नंदकिशोर यादव
बिहार

लोकतंत्र में जनता होती है मालिक: नंदकिशोर यादव

news

विपक्षी दलों को होने लगा है हार का अहसास पटना,18 अक्टूबर (हि.स.)। राज्य के पथ निर्माण मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता नंदकिशोर यादव ने कहा कि महागठबंधन की स्थिति पंचतंत्र की कहानी ‘अंगूर खट्टे हैं‘ से मिलती है, जिसमें एक भूखी लोमड़ी अंगूर तक पहुंचने के लिए बार-बार छलांग लगाती है। लेकिन, जब नहीं पहुंच पाती, तो निराश होकर कहती है ‘अंगूर खट्टे हैं‘। यादव ने रविवार को कहा कि महागठबंधन के नेतागण कुर्सी तक पहुंचने के लिए हर तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। पहले जनता को गुमराह करने की कोशिश की और अब उन्हें जाति और धर्म के बीच बांटकर वोट पाना चाहते हैं। लेकिन, जब सफलता नहीं मिली, तो कुर्सी पर बैठे व्यक्ति में कमियां दिखने लगी। लोकतंत्र में जनता मालिक होती है। जिसे चाहती है हीरो बना देती है और जिसे चाहती है जीरो बना देती है। आपके प्रति जनता को विश्वास नहीं है, इसलिए ऐसे नेताओं को कुर्सी से दूर रखा। आप लोमड़ी की तरह छलांग लगाते रहे हैं। किसने रोका है। यादव ने कहा कि असल में विपक्षी दलों को इस बात का एहसास हो गया है कि इस चुनाव में उनकी करारी हार होने वाली है। क्योंकि वे देख रहे हैं कि राज्य में हर तरफ एनडीए उम्मीदवारों के पक्ष में जबरदस्त हवा बह रही है। जनता इस बार विकास के नाम पर वोट देने का मन बना चुकी है। जाति और धर्म के नाम पर लोगों को बांटने का विपक्षी दलों का हथकंडा काम नहीं आ रहा। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/विभाकर-hindusthansamachar.in