मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल के गैर हाजिर कर्मियों से जवाब तलब
मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल के गैर हाजिर कर्मियों से जवाब तलब
बिहार

मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल के गैर हाजिर कर्मियों से जवाब तलब

news

गया, 24 जुलाई (हि.स.) । मगध प्रमंडल के आयुक्त असंगवा चुबा आओ एवं पुलिस महानिरीक्षक मगध क्षेत्र गया राकेश राठी ने अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल अवस्थित कंट्रोल रूम का निरीक्षण शुक्रवार को किया। निरीक्षण के दौरान प्रमंडलीय आयुक्त ने कंट्रोल रूम में लगाए गए कर्मियों की ड्यूटी में अनुपस्थित कर्मियों से स्पष्टीकरण की मांग की। आयुक्त ने कंट्रोल रूम में आने वाले कॉल की जानकारी ली। उपस्थित कर्मी द्वारा बताया गया कि पेशेंट के समस्या से संबंधित, दवाओं की उपलब्धता से संबंधित, डिस्चार्ज करने से संबंधित और साफ सफाई से संबंधित अलग-अलग फोन कॉल आ रहे हैं। आयुक्त श्री आओ ने सहायक समाहर्ता सौरभ सुमन यादव को निर्देश दिया कि जो शिकायतें आ रही हैं। उनका अलग-अलग मास्टर लॉग बनाएं। ताकि संबंधित सेक्टर से फॉलोअप आसानी से किया जा सके। उन्होंने कहा कि एएनएमएमसीएच अस्पताल में एडमिट मरीज यदि कंट्रोल रूम से कोई जानकारी लेना चाहते हैं तो उसे प्राथमिकता देकर उनका रिस्पांस करें। इसके उपरांत सेंट्रल रिसर्च लैबोरेट्री में ट्रू-नेट मशीन से किए जा रहे सैंपल जांच का जायजा लिया गया। उपस्थित टेक्नीशियन द्वारा बताया गया कि शुक्रवार को कुल 77 सैंपल उपलब्ध हुए हैं पूर्व के 100 सैंपल लंबित हैं। अब तक कुल 177 सैंपल यहां उपलब्ध हैं। टेक्नीशियन द्वारा बताया गया कि सभी सैंपल के रिपोर्ट आने पर ऑनलाइन पोर्टल पर अपडेट किया जाता है।आयुक्त ने ऑपरेटर की संख्या बढ़ाकर सैंपल जांच बैकलॉग को खत्म करने का निर्देश दिए। इसके उपरांत आरटीपीसीआर जांच लैब का निरीक्षण किया गया। लैब टेक्नीशियन द्वारा बताया गया कि एक बार में 94 सैंपल की जांच की जाती है तथा 1 दिन में दो शिफ्ट जांच होती हैं। आयुक्त ने काम करने वाले सभी टेक्निशियन से कहा कि बहुत सारे आम लोगों की जिंदगी आपके हाथ में है। उन्होंने फ़्लू काउंटर एवं रजिस्ट्रेशन काउंटर के समीप पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम लगाने का निर्देश दिया। उन्होंने अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल के प्राचार्य कक्ष के समीप कॉन्फ्रेंस हॉल में संबंधित डॉक्टर एवं पदाधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में आयुक्त ने एल 1, एल 2 एवं एल 3 सेंटर में लगाए गए सभी बेडो को दुरुस्त रखने का निर्देश दिया। वेंटिलेटर में रखे गए मरीज एवं ऑक्सीजन में लगाये गए मरीजों पर विशेष निगरानी रखने को कहा। उन्होंने एल 1, एल 2 एवं एल 3 सेंटर के नोडल पदाधिकारीयों को आपस में समन्वय स्थापित रखने का निर्देश दिया। अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल में मरीजों के टेस्टिंग के संबंध में आयुक्त ने सिंप्टोमेटिक मरीजों को आरटीपीसीआर से जांच कराने का निर्देश दिए। आयुक्त श्री आओ को दवा की उपलब्धता के संबंध में बताया गया कि डायबिटीज मरीजों के लिए इंसुलिन एवं अन्य दवाओं की कमी है। आयुक्त ने कहा कि जरूरत पड़ने पर अति महत्वपूर्ण दवाएं अधीक्षक एएनएमसीएच के माध्यम से मंगवाए। वहीं,एल 3 सेंटर के नोडल डॉक्टर ने ऑक्सीजन अलार्म सिस्टम लगवाने का अनुरोध किया। ताकि मरीजों का ऑक्सीजन लेवल आसानी से पता चल सके। उन्होंने सभी नोडल डॉक्टरों को आपस में समन्वय रखने को कहा ताकि किस मरीज को कहां एडमिट करना है इसके लिए पूर्व से ही वो तैयार रहें। हिंदुस्थान समाचार/ पंकज कुमार/विभाकर-hindusthansamachar.in