मानदेय नहीं मिलने पर सामूहिक आत्मदाह करेंगे श्रमिक विद्यालय के कर्मी
मानदेय नहीं मिलने पर सामूहिक आत्मदाह करेंगे श्रमिक विद्यालय के कर्मी
बिहार

मानदेय नहीं मिलने पर सामूहिक आत्मदाह करेंगे श्रमिक विद्यालय के कर्मी

news

बेगूसराय, 04 सितम्बर (हि.स.)। बाल श्रमिक विद्यालय में काम करने वाले कर्मियों को 25 माह से अधिक का मानदेय नहीं मिलने तथा छात्रों को छात्रवृत्ति का भुगतान नहीं किए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस संबंध में बाल श्रमिक विद्यालय में कार्यरत कर्मियों ने डीएम को आवेदन देकर भुगतान करवाने की गुहार लगाई है। भुगतान नहीं होने की स्थिति में 15 सितम्बर को इन लोगों ने सामूहिक आत्मदाह करने का निर्णय लिया है। बाल श्रमिक विद्यालय के संजय कुमार पासवान ने शुक्रवार को बताया कि 2008 से 2014 तक का जांच कर लिया गया,लेकिन 24 माह का ही मानदेय भुगतान किया गया। फिर से जांच का आदेश दिए जाने पर जांच कराया गया तथा प्रतिवेदन भी फरवरी 2020 में ही कार्यालय को प्रेषित कर दी गई। हम लोगों को बताया गया कि जांच प्रतिवेदन आ चुका है, जल्द ही भुगतान किया जाएगा। लेकिन आज तक भुगतान नहीं किया गया है। कुछ कर्मियों का 2008 से 2015 तक का भुगतान नहीं किया गया है, जबकि आवंटन प्राप्त है। एनसीआईपी के कार्यालय कर्मी का आवंटन नहीं रहने के बावजूद भुगतान किया जा रहा है। जबकि हम लोगों को बेवजह परेशान किया जा रहा है, छात्रों की छात्रवृत्ति का भुगतान नहीं किया जा रहा है। ऐसे हालत में जब भूखे मर रहे हैं तो इस से अच्छा है कि हम लोग सामूहिक आत्मदाह कर जान दे दें। आवेदन की प्रतिलिपि उच्च न्यायालय के न्यायाधीश, श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, श्रम संसाधन विभाग, मुख्यमंत्री एवं आयुक्त को भी भेजी गई है। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/चंदा-hindusthansamachar.in