मधुबनी पेंटिंग की राखी और मास्क बनाकर आत्मनिर्भर हो रही है महिलाएं
मधुबनी पेंटिंग की राखी और मास्क बनाकर आत्मनिर्भर हो रही है महिलाएं
बिहार

मधुबनी पेंटिंग की राखी और मास्क बनाकर आत्मनिर्भर हो रही है महिलाएं

news

बेगूसराय, 24 जुलाई (हि.स.)। वैश्विक महामारी कोरोना काल में देश आर्थिक संकट से घिरा है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा स्वरोजगार सृजन योजना, आत्मनिर्भर भारत निर्माण के लिए स्वदेशी अपनाने और वोकल फॉर लोकल के नारे लगाए जा रहे हैं तो इन्हीं बातों को सार्थक करने के लिए बेगूसराय की समाजिक संस्था त्रिवेणी लगातार प्रयासरत है। लॉकडॉउन और सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए कोविड-19 के तमाम एहतियात बरतने के साथ महिलाओं को स्वावलंबी तथा आत्मनिर्भर बनाने के लिए त्रिवेणी द्वारा स्वदेशी राखी बनाने का फ्री प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जहां महिलाएं घर में रंग-बिरंगी राखियां बना रही है। मधुबनी पेंटिंग की राखी, रेशम की राखी, जरी की राखियां बहुत ही कम खर्च में खूबसूरत बनाए जा रहे हैं। महिलाएं बहुत ही कम पूंजी में अपने घर बैठे स्वरोजगार कर रही हैं। इसके साथ मधुबनी पेंटिंग का मास्क भी बनाया जा रहा है, जो बहुत ही लोकप्रिय हो रहा है और जगह-जगह से उनके ऑर्डर भी आ रहे हैं। समाजजिक कार्यकर्ता अंजली प्रिया ने बताया कि महिलाओं को आत्मनिर्भर तथा स्वावलंबी बनाने के लिए भले ही एक छोटा सा कदम है। लेकिन इस तरह के प्रशिक्षण से महिलाओं का हौसला बढ़ रहा है, कुछ करने का जज्बा पैदा हो रहा है। उन्होंने बताया कि एक दिन यही महिलाएं जागरूक होंगी और अपने पैरों पर खड़ी होंगी, तब आत्मनिर्भर भारत की बात बिल्कुल सार्थक हो जाएगी। उन्होंने बताया कि हम सबका यह अभियान चीन के विरुद्ध व्याप्त देशव्यापी विरोध का समर्थन करता है। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र-hindusthansamachar.in