बेरोजगार को रोजगार दे आत्मनिर्भर बनाने का सपना हो रहा सफल : संजीव
बेरोजगार को रोजगार दे आत्मनिर्भर बनाने का सपना हो रहा सफल : संजीव
बिहार

बेरोजगार को रोजगार दे आत्मनिर्भर बनाने का सपना हो रहा सफल : संजीव

news

सुपौल, 10 सितंबर (हि. स.)। जन्मभूमि एवं कर्मभूमि से बड़ा कुछ नहीं होता है। युवा राजद नेता संजीव कुमार मिश्रा छातापुर विधानसभा क्षेत्र के युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत बन गए हैं। गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत करते उन्होंने कहा कि गरीबी क्या होती है यह बहुत नजदीक से देखा है। 2016 में बीए की पढ़ाई छोड़ संजीव दिल्ली की ओर निकल पड़े।वहां मेहनत- मजदूरी करने के बाद उन्हें अपनी जन्म भूमि की याद आने लगी लेकिन भूमि के युवाओं के लिए एक सपना उनके दिमाग में हर वक्त घूम रहा था। वहां से आने के बाद कोसी और सीमांचल की राजधानी कहे जाने वाले पूर्णिया को उन्होंने अपनी कर्मभूमि बनाया। यह कर्मभूमि उनके लिए किसी वरदान से कम नहीं थी । आज 13 प्रोजेक्ट के मालिक संजीव मिश्रा लगभग 1000 युवाओं को रोजगार दे अपने अधूरे सपने को साकार कर रहे हैं। युवा राजद के राष्ट्रीय महासचिव संजीव कुमार मिश्रा ने कहा कि मेरा मकसद सिर्फ राजनीति करना ही नहीं बल्कि क्षेत्र के युवाओं , महिलाओं और गरीबों का उत्थान करना है। उन्होंने कहा कि वह जाति की नहीं जमात की राजनीति करते हैं। कोरोना के दौरान राज्य के बाहर के लोगों को अपने घर पहुंचा कर संजीव मिश्रा ने एक अद्भुत मिसाल कायम की । उन्होंने कहा कि एक गरीब घर का बेटा हूं और मुझसे अधिक गरीबों के बारे में कोई दूसरा नहीं जानता। यही कारण है कि गरीबों का स्नेह और प्यार ने मुझे इस मुकाम पर पहुंचाया है। मौके पर काफी संख्या में उनके समर्थक मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/ राजीव/विभाकर-hindusthansamachar.in