बिहार पुलिस मामले की जांच में पूरी तरह सक्षम
बिहार पुलिस मामले की जांच में पूरी तरह सक्षम
बिहार

बिहार पुलिस मामले की जांच में पूरी तरह सक्षम

news

सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय का बड़ा बयान, कहा बिहार पुलिस मामले की जांच में पूरी तरह सक्षम हम सी बी आई जांच की मांग नहीं करते, पिता चाहे तो कर सकते हैं मांग पटना, 01 अगस्त (हि.स.) । बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले की जांच सीबीआई को सौंपने का मुद्दा तूल पकड़ता जा रहा है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बाद अब बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने भी इस मसले पर अपना बयान दिया है। उन्होंने कहा कि हम सीबीआई जांच की मांग नहीं करते हैं क्योंकि बिहार पुलिस जांच करने में सक्षम है। बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने शनिवार को संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि अगर सुशांत सिंह राजपूत के पिता चाहते हैं तो वह सीबीआई जांच की मांग कर सकते हैं। हम सीबीआई जांच की मांग नहीं कर रहे हैं, क्योंकि बिहार पुलिस इस आत्महत्या मामले की जांच करने में पूरी तरह सक्षम है। सुशांत के पिता केके सिंह द्वारा पटना के राजीव नगर थाने में एक एफआईआर दर्ज कराने के बाद इस आत्महत्या मामले की जांच के लिए बिहार पुलिस की टीम मुंबई गई हुई है। बिहार के डीजीपी ने कहा कि हमारी टीम मुंबई में है और हमारे पटना के एसएसपी मुंबई में अपने समकक्ष के साथ लगातार संपर्क में हैं। शुक्रवार को हमारी टीम डीसीपी क्राइम से मिली थी और उन्होंने आश्वासन दिया है कि वे जांच में सहयोग करेंगे। वे भी सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार कर रहे हैं। फिर वे हमें सभी दस्तावेज मुहैया कराएंगे। पांच अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई सुशांत के पिता की तरफ से पटना में दर्ज कराई गई एफआईआर में रिया चक्रवर्ती को आरोपी बनाया गया है। रिया ने पटना में दर्ज केस को मुंबई ट्रांसफर करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाई है। इस मामले में पांच अगस्त को शीर्ष अदालत में सुनवाई होगी। बिहार पुलिस रिया की याचिका का कोर्ट में विरोध करेगी और इसके लिए बिहार सरकार की तरफ से एक कैविएट भी दाखिल किया गया है। वहीं, महाराष्ट्र सरकार ने भी शुक्रवार को इस मामले में अपना पक्ष रखने के लिए कैविएट दाखिल किया था। बिहार के डीजीपी के मुताबिक, दोनों पक्षों को इस मामले में फैसला आने का इंतजार है। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव रंजन /विभाकर-hindusthansamachar.in