बिहार के किसान व मछली पालकों की समस्या दूर की जाएगी : मुकेश सहनी
बिहार के किसान व मछली पालकों की समस्या दूर की जाएगी : मुकेश सहनी
बिहार

बिहार के किसान व मछली पालकों की समस्या दूर की जाएगी : मुकेश सहनी

news

सहरसा,22 नवम्बर(हि.स.)। बिहार के मत्स्य व पशुपालन मंत्री व वीआईपी सुप्रीमो मुकेश सहनी द्वारा सिमरी बख्तियारपुर विधानसभा क्षेत्र में एक दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर किया गया। भ्रमण के दौरान पहला कार्यक्रम महिषी स्थित प्राचीन सिद्ध शक्तिपीठ उग्रतारा मंदिर में जलाभिषेक कर अभीष्ट सिद्धि की कामना कर प्रारंभ किया।क्षेत्र के सैकड़ों एनडीए कार्यकर्ताओं ने मंदिर प्रवेश द्वार पर अगुवाई कर जयकार के नारे लगाए। स्थानीय पुजारियों ने वैदिक रीति रिवाज से सहनी को पूजा करा स्थानीय विशिष्टताओं की जानकारियां दी। पूजा बाद मंदिर न्यास के सचिव पीयूष रंजन व कोषाध्यक्ष माणिक चंद्र झा ने मंत्री को पाग, चादर व माला पहना कर सम्मानित किया। महिषी से वे निकलकर नहरवार में पूर्व जिला पार्षद गणेश मुखिया के यहां पहुंच नागरिकों का अभिवादन कर आगे बढ़ गये। वहां से प्रस्थान कर सिमरी बख़्तियारपुर के पहाड़पुर बाजार स्थित भोगी सहनी के यहां पहुंचे। जहां नागरिक अभिनंदन किया गया। उन्होंने पत्रकारों से क्षेत्रीय विकास की संभावनाओं पर चर्चा कर कहा कि गठबंधन के शीर्ष नेताओं ने मुझ पर विश्वास जताते मंत्रालय का जिम्मा सौंपा है। प्रदेश के सर्वांगीण विकास में सहभागिता उनकी प्राथमिकता होगी। उपस्थित लोगों का अविवादन करते हुए कहा कि सिमरी बख्तियारपुर के लोगो ने हमे दिल से आशीर्वाद दिया है। हार-जीत अलग बात है। लेकिन लोगो ने हमे जबरदस्त समर्थन दिया।मुकेश सहनी ने कहा कि जब तक हम सिमरी बख्तियारपुर से जीत दर्ज नही करते तब तक हम सिमरी बख्तियारपुर को छोड़ने वाले भी नही हैं। उन्होंने कहा कि सिमरी बख्तियारपुर मेरे रग - रग में है। मेरा जो एजेंडा सिमरी बख्तियारपुर के लोगो के लिए था। उसे पूरा करने का भरसक प्रयास करूंगा। मंत्री ने कहा कि आदरणीय सीएम नीतीश कुमार ने मुझ पर भरोसा कर जो विभाग दिया है। उस विश्वास पर खड़ा उतरने का कार्य करूंगा।बिहार के किसान एवं मछली पालकों की समस्या को हर हाल में दूर किया जायेगा। उन्होंने कहा कि मेरा तो पूरा बिहार घर है। लेकिन सिमरी बख्तियारपुर से उनका खासा लगाव है। इसलिए मेरा दौरा यहां लगातार जारी रहेगा। यहां के बाद मंत्री ने सलखुआ अंचल के पूर्वी कोसी तटबंध व कोसी के कछार पर स्थित कटघड़ा पुनर्वास में मिथिलेश चौधरी निषाद के घर शाम में पहुंच नागरिकों के अभिवादन कर पटना के लिए प्रस्थान कर गये। हिन्दुस्थान समाचार/अजय-hindusthansamachar.in