बिहार का विकास ही एनडीए का लक्ष्य : नरेंद्र मोदी
बिहार का विकास ही एनडीए का लक्ष्य : नरेंद्र मोदी
बिहार

बिहार का विकास ही एनडीए का लक्ष्य : नरेंद्र मोदी

news

प्रधानमंत्री ने बिहार के मतदाताओं को लिखा भावुक पत्र जात-पात पर नहीं विकास के मुद्दे पर वोट करने की अपील पटना, 05 नवम्बर (हि.स.) । बिहार विधानसभा चुनाव प्रचार के आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार की जनता के नाम एक भावुक पत्र लिखा है। इस खुले पत्र के जरिए प्रधानमंत्री ने बिहारवासियों से बड़ी अपील की है। प्रधानमंत्री ने अपने चार पन्नों के अपने पत्र में बिहार को लेकर एनडीए के संकल्प के बारे में लोगों को जानकारी दी है। प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन की शुरुआत में लिखा है कि आज इस पत्र के माध्यम से आप से बिहार के विकास और एनडीए पर लोगों का विश्वास बनाए रखने के लिए एनडीए के संकल्प के बारे में बात करना चाहता हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार के युवाओं और बुजुर्गों के साथ-साथ गरीबों, किसानों और हर वर्ग के लोगों के साथ कनेक्ट करते हुए कहा कि आज एनडीए के समर्थन में जिस तरह सभी वर्ग के लोग आ रहे हैं, वह बताता है कि बिहार एक आधुनिक दिशा में आगे बढ़ रहा है। बिहार में लोकतंत्र के महापर्व के दौरान मतदाताओं ने हम सब को अधिक उत्साह के साथ कार्य करने के लिए प्रेरित किया है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि हम सब के लिए यह गर्व की बात है कि बिहार चुनाव का पूरा फोकस विकास पर केंद्रित रहा है। एनडीए सरकार ने पिछले वर्षों में जो काम किए हैं, उसका हमने न केवल रिपोर्ट कार्ड पेश किया बल्कि जनता-जनार्दन के सामने विजन भी रखा है। उन्होंने कहा कि बिहार का विकास केवल एनडीए सरकार ही कर सकती है। इतना ही नहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पत्र में वर्ष 2005 से 2020 के बीच बिहार में हुए बदलाव की चर्चा की है। कहा है कि बिहार में वोट पड़ रहे हैं। जात-पात पर नहीं, विकास पर, झूठे वादों पर नहीं पक्के इरादों पर, कुशासन पर नहीं सुशासन पर, भ्रष्टाचार पर नहीं ईमानदारी पर, अवसरवादिता पर नहीं आत्मनिर्भरता पर लोग अपना वोट दें। प्रधानमंत्री ने भरोसा जताया है कि डबल इंजन की ताकत इस दशक में बिहार को विकास की नई ऊंचाइयों पर पहुंचाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव रंजन /विभाकर-hindusthansamachar.in