बाहुबली विधायक अनंत सिंह पर अवैध हथियार बरामदगी मामले में आरोप तय, अगली सुनवाई 21 को
बाहुबली विधायक अनंत सिंह पर अवैध हथियार बरामदगी मामले में आरोप तय, अगली सुनवाई 21 को
बिहार

बाहुबली विधायक अनंत सिंह पर अवैध हथियार बरामदगी मामले में आरोप तय, अगली सुनवाई 21 को

news

बाहुबली विधायक अनंत सिंह पर अवैध हथियार बरामदगी मामले में आरोप तय, अगली सुनवाई 21 को एके 47, हैंड ग्रेनेड और इंसास की मैगजीन रखने के मामले में तय हुए आरोप पटना, 15 अक्टूबर (हि.स.)। बाहुबली विधायक अनंत सिंह पर अवैध हथियारों की बरामदगी के दो मामलों में आरोप तय हो गया। गुरुवार को पटना सिविल कोर्ट में सांसद-विधायक के मामलों के लिए गठित विशेष अदालत में अनंत सिंह की पेशी हुई थी। विशेष अदालत के जज विपुल सिन्हा ने आरोप तय करते हुए सुनवाई की अगली तिथि 21 अक्टूबर को तय की। उल्लेखनीय है कि अनंत सिंह पर पहला मामला वर्ष 2019 में दर्ज हुआ था। 16 अगस्त को बाढ़ के नदवां गांव स्थित उनके घर पर एसपी लीली सिंह के नेतृत्व में पुलिस ने छापेमारी की थी। उसमें एके-47 राइफल और हैंड ग्रेनेड बरामद करने का दावा किया गया था। उसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। उस समय से वे बेउर जेल में बंद हैं। हालांकि, अनंत सिंह ने इसे अपने खिलाफ राजनीतिक साजिश करार दिया था। दूसरा मामला वर्ष 2015 में पटना के सचिवालय थाने में दर्ज हुआ था। इसके अनुसार अनंत सिंह के सरकारी आवास से इंसास राइफल की मैगजीन और विदेशी बुलेटप्रूफ जैकेट बरामद करने का दावा पुलिस ने किया था। इस मामले की अगली सुनवाई 4 नवंबर को होगी। पांचवी बार चुनाव मैदान में हैं अनंत, राजद के टिकट पर मोकाम से किया नामांकन बिहार की सियासत में बाहुबली नेताओं का अपना वर्चस्व रहा है। बाहुबली विधायक अनंत सिंह ने एक दिन पहले 14 अक्टूबर को मोकामा से नामांकन पर्चा दाखिल किया। इलाके में छोटे सरकार के नाम से बुलाये जाने वाले अनंत सिंह मोकामा से पांचवीं बार चुनाव मैदान में हैं। वे राजद के उम्मीदवार हैं। साथ ही उनकी पत्नी नीलम सिंह ने भी निर्दलीय पर्चा दाखिल किया। माना जा रहा है कि अगर किसी भी कारण अनंत सिंह का नामांकन पर्चा रद्द हो जाता है, तब निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नीलम चुनावी मैदान में रहेंगी और विपक्षी गठबंधन का समर्थन मिलेगा। लगातार चार बार जदयू से रहे विधायक, इस बार राजद के टिकट पर लड़ रहे अनंत सिंह का राजनीतिक सफर तो जदयू से शुरू हुआ था, लेकिन मतभेद होने के कारण पिछले चुनाव वर्ष 2015 में बतौर निर्दलीय उम्मीदवार उन्होंने जदयू प्रत्याशी नीरज कुमार को हराया था। अनंत सिंह पिछले चार बार से लगातार मोकामा विधानसभा सीट से विधायक हैं। 2005 फरवरी, 2005 अक्टूबर, 2010 में वे जदयू के टिकट पर चुनाव जीते। जबकि 2015 में वे निर्दलीय चुनाव लड़े और जीते भी। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/विभाकर-hindusthansamachar.in