बक्सर में अधिवक्ता हत्याकांड  के विरोध में सड़क पर उतरे अधिवक्ता
बक्सर में अधिवक्ता हत्याकांड के विरोध में सड़क पर उतरे अधिवक्ता
बिहार

बक्सर में अधिवक्ता हत्याकांड के विरोध में सड़क पर उतरे अधिवक्ता

news

बक्सर, 22 सितम्बर (हि.स.)। अधिवक्ता किशोर कुणाल पाण्डेय की सोमवार को दिनदहाड़े हत्या के विरोध में मंगलवार को आक्रोशित अधिवक्ताओं ने जिला बार संघ के बैनर तले एकजुट होकर बक्सर व्यवहार न्यायालय के समीप सड़क जाम कर दी। अपराधियों के हमले में अपने साथी अधिवक्ता की मौत का आक्रोश इस कदर था कि सैकड़ों की संख्या में जुटे अधिवक्ताओं के सामने पुलिस जाने का साहस नहीं जुटा पा रही थी। आक्रोशित अधिवक्ताओं ने तीन घंटे तक सड़क मार्ग को अवरुद्ध कर शहर के यातायात को बाधित किया। अधिवक्ताओं की मांग थी कि सरकार अविलम्ब मृत अधिवक्ता के परिजनों को 50 लाख रुपये की मुआवजा राशि उपलब्ध कराते हुए परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दे। सड़क जाम के कारण उत्पन्न विधि व्यवस्था को लेकर जिलाधिकारी अमन समीर व एसपी नीरज कुमार सिंह के नेतृत्व में जिले के आलाधिकारी सड़क जाम कर रहे आक्रोशित अधिवक्ताओं के बीच पहुंच कर बक्सर जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष सूबेदार पाण्डेय सचिव रामनाथ ठाकुर समेत एक प्रतिनिधिमंडल से बात कर उनकी मांगों को सरकार तक पहुंचाने एवं नवपदस्थापित बक्सर एसपी नीरज कुमार द्वारा पन्द्रह दिनों के भीतर हत्यारों की गिरफ्तारी का भरोसा दिलाये जाने के बाद आक्रोशित अधिवक्ताओं ने सड़क जाम समाप्त कर दी। बक्सर जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष सूबेदार पाण्डेय ने एसपी बक्सर को बताया कि 21 सितम्बर 2019 से 21 सितम्बर 2020 के बीच अपराधियों द्वारा अधिवक्ता प्रेम प्रकाश श्रीवास्तव, अधिवक्ता चितरंजन कुमार सिंह और अब किशोर कुणाल पाण्डेय की हत्या करना यह साबित कर रहा है कि बेख़ौफ़ अपराधी न्यायालय में कार्यरत अधिवक्ताओं को किस तरह टार्गेट कर रहे हैं। सोमवार की वारदात के बाद स्थानीय अधिवक्ताओं में आक्रोश व्याप्त है। हिन्दुस्थान समाचार /अजय मिश्रा/हिमांशु शेखर/विभाकर-hindusthansamachar.in