फर्जी आइएएस के खौफ से त्रस्त पदाधिकारियों  ने लिया संज्ञान,खोज रही पुलिस
फर्जी आइएएस के खौफ से त्रस्त पदाधिकारियों ने लिया संज्ञान,खोज रही पुलिस
बिहार

फर्जी आइएएस के खौफ से त्रस्त पदाधिकारियों ने लिया संज्ञान,खोज रही पुलिस

news

मधुबनी,07 सितम्बर (हि .स.)। मधुबनी जिले के विभिन्न पदाधिकारियों को फर्जी आईएएस द्वारा फोन करके कई कार्य करने का निर्देश व धमकाने की सूचना यहां आई है। लेकिन जिला प्रशासन ने मामले की छानबीन कर पुलिस को इस फर्जी आदमी को शीघ्र पकड़ने का आदेश दिया। बताया जा रहा है कि झंझारपुर में फोन करके पहले कृषि एसडीओ, बीडीओ, सीओ, मनरेगा पीओ, सीडीपीओ सहित एसडीएम को भी फोन किया गया। फर्जी आइएएस ने अपने को राजस्थान कैडर का बताया है। डीडीसी को फोन करके कई योजनाओं की जानकारी ली तथा डांट लगायी। डीडीसी व अन्य डिप्टी कलेक्टर पर दबाव बनाने की कोशिश की। खुद को राजस्थान कैडर का आइएएस झंझारपुर प्रखंड के ननौर गांव अपना घर बताता रहा। कथित आइएएस के कारनामे से यहां के अधिकतर पदाधिकारी हतप्रभ थे।आइएएस बनकर अधिकारियों को फोन करने के मामले में डीडीसी अजय कुमार सिंह ने झंझारपुर के बीडीओ को जांच का निर्देश दिया। बताया गया है कि फर्जी आइएस अधिकारी ने अपना नाम उत्सव कौशल तथा झंझारपुर प्रखंड के ननौर का निवासी बताया है। जांच में पाया गया है कि इस नाम के आइएएस अधिकारी सही में कार्यरत हैं। लेकिन न तो उनका घर झंझारपुर प्रखंड के किसी गांव में है और न ही उन्होंने किसी के लिए कोई पैरवी की ना ही फोन भी किया है। उनसे स्थानीय पदाधिकारियों से बातचीत हुई। उन्होंने अपनी कोई भी भागीदारी इस मामले में नहीं बतायी है। उन्होंने कहा कि मेरे नाम से कोई फर्जी व्यक्ति फोन कर रहा है। मोबाइल नंबर मेरा नहीं है। वास्तविक आईएएस उत्सव कौशल ने जिलाधिकारी को फोन करके वस्तुस्थिति बतायी तथा फर्जी व्यक्ति द्वारा स्थानीय पदाधिकारियों को भ्रमित करने की जानकारी दी। ऐसे लोगों से सावधानी बरतने का आग्रह किया। साथ ही उन्होंने ऐसे किसी भी प्रकार की फोन नहीं करने की सूचना शेयर किया है । शिकायत के बाद फर्जी आइएएस अधिकारी को अब यहां पुलिस ढूंढ रही है। हिन्दुस्तान समाचार/लंबोदर झा/हिमांशु शेखर /विभाकर-hindusthansamachar.in