पटना में गंगा पथ परियोजना का काम अब 2022 में होगा पूरा
पटना में गंगा पथ परियोजना का काम अब 2022 में होगा पूरा
बिहार

पटना में गंगा पथ परियोजना का काम अब 2022 में होगा पूरा

news

दीघा से एएन सिन्हा इंस्टिट्यूट तक अगले साल जून तक शुरू हो जाएगा परिचालन पथ निर्माण मंत्री मंगल पाण्डेय ने किया निर्माण स्थल का निरीक्षण पटना, 23 दिसम्बर (हि.स.) । राजधानी पटना की बहुप्रतीक्षित गंगा पथ परियोजना को पूरा करने को लेकर पथ निर्माण मंत्री मंगल पांडेय ने बुधवार को निर्माणस्थल का दौरा किया और चल रहे निर्माण कार्यों का जायजा लिया। मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि पिछले एक वर्ष से इस योजना में कुछ वजहों से काम नहीं हो पा रहा था, लेकिन अब निर्माण से जुड़े सभी गतिरोध दूर कर लिए गए हैं। गंगा पथ निर्माण ने अब रफ्तार पकड़ ली है। इस परियोजना में शुरू के 5.9 किलोमीटर में दो गुना 9 मीटर पथ पटरी के अलावा दोनों छोर पर 5 मीटर की हरित पट्टी एवं गंगा नदी के तरफ तट पर 5 मीटर का वाकिंग ट्रैक के निर्माण का प्रावधान किया गया है। अभी तक इस परियोजना में गायघाट तक आधा कार्य पूरा हो चुका है तथा लक्ष्य है कि जून, 2021 तक दीघा से एएन सिन्हा इंस्टीच्यूट तक आवागमन शुरू कर दिया जाए। इस परियोजना को दिसंबर, 2022 तक पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है। 13 जगहों पर बने हैं अंडरपास गंगा नदी के तट पर पहुंचने के लिए कुल 13 जगहों पर अंडरपास का निर्माण किया गया है। जिससे आमजन आसानी से गंगा तट पर आ सकते हैं। विभागीय मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि इस परियोजना की राशि 3,390 करोड़ की है। कुल 20.5 किलोमीटर लंबी यह परियोजना दीघा से दीदारगंज तक है। जिसमें एएन सिन्हा इंस्टिट्यूट के पास से गायघाट, कंगन घाट होते हुए पटना घाट एवं धर्मशाला घाट से पुराने एनएच दीदारगंज तक कुल 11.7 किलोमीटर एलिवेटेड रोड एवं दीघा से एएन सिन्हा इंस्टिट्यूट एवं पटना घाट से धर्मशाला घाट तक कुल 8.8 किलोमीटर की सड़क का निर्माण गंगा नदी के बांध पर किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव रंजन/चंदा-hindusthansamachar.in