पंचाने नदी का जलस्तर बढ़ने से सहमे लोग, बाढ़ का खतरा
पंचाने नदी का जलस्तर बढ़ने से सहमे लोग, बाढ़ का खतरा
बिहार

पंचाने नदी का जलस्तर बढ़ने से सहमे लोग, बाढ़ का खतरा

news

बिहारशरीफ, 30 जुलाई (हि.स.)। बिहारशरीफ की पंचाने नदी में गुरुवार की सुबह पानी अधिक आने से नदी उफनाने लगी है। नदी में पानी अचानक आ जाने से बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। पंचाने नदी से बिहारशरीफ, रहुई, हरनौत प्रखंड में बाढ़ का खतरा अधिक रहता है, जिससे लाखों की आबादी बुरी तरह प्रभावित होती है। पंचाने के साथ-साथ गोइठवा व सोयबा नदियों में भी पानी आ गया है, जबकि सकरी और जीराइन नदियों में पहले से ही पानी आया हुआ है। बताया जाता है कि झारखंड में बारिश अधिक होने से नालंदा में बाढ़ का खतरा बढ़ जाता है। पंचाने नदी में भी पानी में तेजी से वृद्धि हो गयी है, जिससे आशंका व्यक्त की जा रही है कि अगले एक-दो दिनों में नालंदा जिले में बाढ़ का खतरा बढ़ सकता है। जिले में लगातार बारिश हो रही है। कई प्रखंडों में स्थिति भयावह हो गयी है, जिससे जिले की नदियों में बाढ़ का पानी बढ़ने से लोगों में काफी भय देखा जा रहा है। अभी जिस नदी में पानी आया है, उससे गांव के लोगों ने धान की रोपनी जोर-शोर से शुरू कर दी है। खासकर अस्थावां, बिंद, सरमेरा, बिहारशरीफ आदि प्रखंडों में गुजरने वाली नदियों में पानी का बहाव खतरे के निशान से काफी कम है। जल विभाग के कार्यपालक पदाधिकारी रविशंकर ने बताया कि जीरायन और सकरी नदियों में दो से चार फुट पानी का बहाव है जबकि, पंचाने नदी में डेढ़ से दो फुट पानी आया है। इससे बाढ़ की कोई बात नहीं है। विभाग ने बाढ़ से बचाव के लिए पूरी तैयारी कर रखी है। उन्होंने बताया कि विभाग ने कई टीमों का गठन किया है जो हमेशा नदियों के पानी की निगरानी करती रहेगी। हिन्दुस्थान समाचार/प्रमोद पाण्डेय/हिमांशु शेखर/विभाकर-hindusthansamachar.in