नई शिक्षा नीति गरीब छात्रों को शिक्षा से वंचित   करने की नीति है : एआईएसएफ
नई शिक्षा नीति गरीब छात्रों को शिक्षा से वंचित करने की नीति है : एआईएसएफ
बिहार

नई शिक्षा नीति गरीब छात्रों को शिक्षा से वंचित करने की नीति है : एआईएसएफ

news

दरभंगा, 31 जुलाई (हि.स.)। एआईएसएफ ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का विरोध किया है। कहा है कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 2020 प्राइमरी से लेकर विश्वविद्यालय तक शिक्षा के व्यवसायीकरण ,निजीकरण एवं शिक्षा के मौलिक अधिकारों को कमजोर करने की नीति है ।विश्वविद्यालय अनुदान आयोग को योजना आयोग की ही तर्ज पर समाप्त कर विश्वविद्यालय की स्वायत्तता समाप्त कर दी गई है। शिक्षा के जनतांत्रिक चरित्र को समाप्त कर सत्ता केंद्रित अधिकारों का केंद्रीकरण कर दिया गया है। अभी तक भारत के संविधान में शिक्षा समवर्ती सूची में रहने के कारण राज्य का विषय था लेकिन केंद्र सरकार राज्य की संवैधानिक स्वायत्तता का अपहरण कर रही है। शुुुक्रवार को विज्ञप्ति जारी करते हुए एआईएसएफ के जिला सचिव शरद कुमार सिंह ने यह बात कही है। ज्ञातव्य हो कि नई शिक्षा नीति 2020 पर पिछले दिनों कैबिनेट ने मुहर लगायी है। इसका विरोध करते हुए ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन दरभंगा जिला परिषद् ने कहा कि नई शिक्षा नीति गरीबों को शिक्षा से वंचित करने की नीति है। छात्र संगठन एआईएसएफ लगातार माँग करता रहा है कि शिक्षा पर बजट का दसवां हिस्सा खर्च हो और देश के अंदर समान शिक्षा प्रणाली लागू हो। चाहे वह अमीर का बच्चा हो अथवा गरीब का, सबों को एक समान शिक्षा मिलनी चाहिए और यह नई शिक्षा नीति बिल्कुल इसके विपरीत है। इसलिए हम इसका विरोध करते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/मनोज/विभाकर-hindusthansamachar.in