नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के विरोध में उतरा एआईएसएफ
नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के विरोध में उतरा एआईएसएफ
बिहार

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के विरोध में उतरा एआईएसएफ

news

बेगूसराय, 30 जुलाई (हि.स.)। ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) ने केंद्र सरकार की नई शिक्षा नीति का विरोध किया है। गुरुवार को यहाँ जिला कार्यालय में आयोजित प्रतिरोध सभा को संबोधित करते हुए एआईएसएफ के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अमीन हमजा एवं जिलाध्यक्ष सजग सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 प्राइमरी से लेकर विश्वविद्यालय तक शिक्षा के व्यवसायीकरण, निजीकरण करने एवं शिक्षा के मौलिक अधिकारों को कमजोर करने की नीति है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग को योजना आयोग की ही तर्ज पर समाप्त कर विश्वविद्यालय की स्वायत्तता समाप्त कर दी गई है। कोठारी आयोग द्वारा अनुशंसित शिक्षा पर राष्ट्रीय आय का छह प्रतिशत खर्च करने की राजनीतिक इच्छाशक्ति अभी तक केंद्र की सरकार नहीं दिखा रही है। आंगनबाड़ी केंद्रों को समाज कल्याण विभाग से हटाकर शिक्षा मंत्रालय के अधीन इसलिए लाया गया है ताकि आंगनबाड़ी के लिए आवंटित बजट को जोड़कर छह प्रतिशत व्यय करने का लक्ष्य पूरा हो। जब तक समान शिक्षा प्रणाली लागू नहीं की जाएगी, तब तक न तो सबों को शिक्षा मिल पाएगी और ना ही कभी हमारा देश ज्ञान की शक्ति ही बन पाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/हिमांशु शेखर/विभाकर-hindusthansamachar.in