दस सूत्री मांग को लेकर सीटू से सम्बद्ध यूनियन ने निकाला प्रतिवाद मार्च
दस सूत्री मांग को लेकर सीटू से सम्बद्ध यूनियन ने निकाला प्रतिवाद मार्च
बिहार

दस सूत्री मांग को लेकर सीटू से सम्बद्ध यूनियन ने निकाला प्रतिवाद मार्च

news

बेगूसराय, 23 दिसम्बर (हि.स.)। सीटू से संबद्ध और सीटू से जुड़े श्रमजीवी छोटा परिवहन संघ एवं श्रमजीवी फुटपाथ दुकानदार संघ के संयुक्त तत्वावधान में बुधवार को दस सूत्री मांगों को लेकर नगर निगम कार्यालय के समक्ष प्रतिवाद मार्च किया गया। यह प्रतिवाद मार्च बेगूसराय रेलवे स्टेशन के निकट टैक्सी स्टैंड से आरंभ होकर ट्राफिक चौक, अंबेडकर चौक, कचहरी चौक, कैंटीन चौक, नवाब चौक होते हुए नगर निगम कार्यालय में पहुंचकर प्रतिवाद सभा में तब्दील हो गया। नगर निगम परिसर में आयोजित प्रतिवाद सभा की अध्यक्षता रमेश मिश्र एवं संचालन मोहम्मद इदरीश ने किया।प्रतिवाद मार्च में शामिल प्रदर्शनकारियों का मुख्य मांगों में था एनएच-31 पर कपस्या चौक से खातोपुर चौक तक फ्लाईओवर का शीघ्र निर्माण, फोरलेन निर्माण के कारण विस्थापित टैक्सी स्टैंड का पार्किंग व्यवस्था, फुटपाथ दुकानदारों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था, सड़क जाम की समस्या के निदान के लिए नो एंट्री, वन-वे रूट परिचालन एवं शहरी क्षेत्र के विभिन्न भागों में खासकर मॉल मार्केट एवं निजी क्लीनिक तथा व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के लिए वाहन पड़ाव की अनिवार्यता, कोरोना संकट के मद्देनजर नगर निगम टैक्स और बिजली बिल माफी, जल नल योजना और सीवरेज प्लान के तहत ध्वस्त किए गए सड़कों के शीघ्र पुनर्निर्माण की गारंटी। प्रतिवाद सभा को सम्बोधित करते हुए सीटू राज्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने कहा कि बेगूसराय नगर निगम टैक्स वसूली और लूट का अड्डा बना हुआ है। पूरा बेगूसराय शहर जलजमाव और कचरे के ढ़ेर पर नारकीय जीवन व्यतीत करने को मजबूर है। जल नल योजना और सीवरेज प्लान ने नगर निगम क्षेत्र की सड़कों को ध्वस्त कर दैनिक जीवन में दुर्घटनाओं को आमंत्रित कर दिया है। दूसरी ओर कारपोरेट परस्त सरकारी नीतियों के चलते घरेलू खुदरा बाजार और स्व व्यवसाय से जुड़े फुटपाथ दुकानदारों के जीवन जीने के अधिकार को छीन लेने की साजिशें लगातार जारी है। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/चंदा-hindusthansamachar.in