थरूहट की कला देश एवं विदेश में अपना परचम लहराएं, ऐसा प्रयास करें: जिलाधिकारी
थरूहट की कला देश एवं विदेश में अपना परचम लहराएं, ऐसा प्रयास करें: जिलाधिकारी
बिहार

थरूहट की कला देश एवं विदेश में अपना परचम लहराएं, ऐसा प्रयास करें: जिलाधिकारी

news

बेतिया, 13 सितंबर (हि.स.)। जिलाधिकारी, कुंदन कुमार ने रविवार को कहा कि विभिन्न कला देश एवं विदेश में कैसे अपना परचम लहराएं, इस दिशा में सभी को प्रयास करना होगा। आज इस मंच से एक नयी शुरूआत की जा रही है जिससे थारू जनजाति के लोगों खासकर महिलाओं में क्षमता संवर्धन, कौशल विकास एवं रोजगार/स्वरोजगार का सृजन होगा तथा उनकी जिंदगी में खुशहाली आएगी। उन्होंने कहा कि थरूहट की कलाओं को निखारने की आवश्यकता है ताकि सदियों से चली आ रही इन सांस्कृतिक कलाओं को संरक्षित करते हुए इनका विकास किया जा सके। हमसभी को समन्वित प्रयास करके थरूहट की कला को बुलंदियों तक पहुंचाना है। सदियों से चली आ रही इन कलाओं का सम्मान होना चाहिए तथा सभी को मिलजुल कर ऐसा प्रयास करना चाहिए कि थरूहट की कला न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी परचम लहराएं। जिलाधिकारी आज जिला निबंधन एवं परामर्श केन्द्र के प्रांगण में वस्त्र मंत्रालय, भारत सरकार के तत्वाधान में हस्तशिल्प सेवा केन्द्र, मधुबनी द्वारा आयोजित कार्यशाला/सेमिनार को संबोधित कर रहे थे। जिलाधिकारी द्वारा इस कार्यशाला/सेमिनार का विधिवत उद्घाटन दीप प्रज्जवलित कर किया गया। उन्होंने कहा कि थरूहट के शिल्पकारों को प्रशिक्षण देने की आवश्यकता है ताकि ये और अधिक आधुनिकता के मिश्रण के साथ अपने उत्पादों का प्रोडक्शन कर सके। साथ ही इन्हें आॅनलाइन मार्केटिंग हेतु फोटो अपलोड करना, पोर्टल ओपेन करना आदि की भी विधिवत जानकारी उपलब्ध करायी जाय ताकि उन्हें परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन थरूहट समुदाय के लोगों की बेहतरी के लिए हरसंभव प्रयास करेगा। इस कार्यक्रम में भाग लेने वाले को प्रतिदिन 300 रू0 का वजीफे का प्रावधान है। साथ ही लाभार्थियों को संबंधित शिल्प का टूल किट का भी वितरण किया जाता है। उन्होंने बताया कि डिजाईन कार्यशाला के अंतर्गत शिल्पकारों के परम्परागत स्किल एवं नए तकनीकों को समावेषित कर आधुनिक बाजार के पसंद एवं प्राथमिकता के अनुसार नए प्रोटोटाइप का विकास करना एवं उत्पादों को बढ़ाना इस कार्यशाला का मुख्य उदेश्य है। हिंदुस्थान समाचार / अमानुल हक/चंदा-hindusthansamachar.in