तेज हुई जनसंख्या नियंत्रण कानून, राष्ट्रीय ध्वज के समक्ष ली जाएगी प्रतिज्ञा
तेज हुई जनसंख्या नियंत्रण कानून, राष्ट्रीय ध्वज के समक्ष ली जाएगी प्रतिज्ञा
बिहार

तेज हुई जनसंख्या नियंत्रण कानून, राष्ट्रीय ध्वज के समक्ष ली जाएगी प्रतिज्ञा

news

बेगूसराय, 06 नवम्बर (हि.स.)। देश में जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू करने की मांग अब तूल पकड़ता जा रहा है। कानून बनाने की मांग कर रहे जनसंख्या नियंत्रण फाउंडेशन 13 नवम्बर को छोटी दीपावली के दिन प्रतिज्ञा दिवस मनाएगा। इसके तहत देशभर में करीब तीन हजार स्थानों पर तीन लाख लोग राष्ट्रीय ध्वज प्रणाम कर जनसंख्या नियंत्रण कानून के लिए प्रतिज्ञा लेंगे। मौके पर उपस्थित लोगों के नाम और नंबर सहित हस्ताक्षर प्रधानमंत्री को भेजे जाएंगे। बेगूसराय में भी इसकी जोरदार तैयारी की जा रही है। फाउंडेशन के जिलाध्यक्ष सुमन कुमार सिंह ने शुक्रवार को बताया कि अबकी बार से प्रत्येक वर्ष छोटी दीपावली को यह प्रतिज्ञा दिवस के रूप में मनाया जाएगा। जिसमें भारत माता के चित्र को ससम्मान पुष्पमाला से सजाकर सबसे पहले राष्ट्रीय ध्वज को नमन किया जाएगा। उसके बाद सदस्यों द्वारा प्रतिज्ञा ली जाएगी कि 'प्रातः स्मरणीय भारत माता को साक्षी मानकर तथा अपने पूर्वजों को स्मरण कर परम पवित्र राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के सानिध्य में शपथ लेता हूं कि भारत की संस्कृति, गौरव एवं सम्मान का संरक्षण कर भारत राष्ट्र के सर्वांगीण उन्नति और जनसंख्या नियंत्रण कानून बनवाने के उद्देश्य से मैं जनसंख्या समाधान फाउंडेशन का स्वप्रेरणा से सदस्य बना। संगठन के सभी कार्य में प्रमाणिकता और निस्वार्थ बुद्धि से तथा तन-मन-धन पूर्वक इस प्रतिज्ञा का आजन्म पालन करूंगा। उन्होंने कहा कि कि देश की जनसंख्या 138 करोड़ को पार कर चुकी है। आने वाले कुछ वर्षों में हम चीन को पीछे छोड़कर आबादी के मामले में विश्व में नंबर वन होने वाले हैं। बड़ी आबादी के लिए स्कूल, कॉलेज, हॉस्पिटल, रेलवे स्टेशन, प्रशासनिक दफ्तर, कारखाना और आवास उपलब्ध कराने में खेती तथा जंगलों की जमीन घट रही है। जिससे भविष्य में खाने के लिए पर्याप्त अन्न भी पैदा नहीं होगा। चारों और भूखमरी, बेरोजगारी और अपराध के कारण महामारी के हालत होंगे। इस जनसंख्या विस्फोट और जनसंख्या असंतुलन को रोका नहीं गया तो निश्चित रूप से देश में गृह युद्ध के हालत पैदा हो जाएंगे। विदेशी घुसपैठ और संतुलित जनसंख्या से देश आंतरिक रुप से कमजोर होगा। उन्होंने कहा कि इस मांग को लेकर जनसंख्या समाधान फाउंडेशन देशभर में जनसंख्या नियंत्रण आंदोलन चला रहा है। 125 सांसदों ने इस मांग पर सहमति जताई है। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र-hindusthansamachar.in