जेपीविवि में पीजी के शिक्षकों को शोध कराना अनिवार्य होगा :कुलपति
जेपीविवि में पीजी के शिक्षकों को शोध कराना अनिवार्य होगा :कुलपति
बिहार

जेपीविवि में पीजी के शिक्षकों को शोध कराना अनिवार्य होगा :कुलपति

news

-पीएचडी मे नामांकन की प्रवेश परीक्षा दीक्षांत समारोह के बाद मार्च में होगी आयोजित -प्लाग्रिज्म सिनॉप्सिस के लिए अनिवार्य नहीं - शोध सलाहकार समिति की बैठक आयोजित छपरा, 23 दिसम्बर (हि.स.)। जयप्रकाश विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर फारूक अली ने कहा कि स्नातकोत्तर के सभी शिक्षकों को शोध कार्य कराना अनिवार्य होगा। कुलपति प्रोफेसर फारूक अली ने बुधवार को आयोजित शोध सलाहकार समिति की बैठक में कहा कि पीएचडी में नामांकन के लिए प्रवेश परीक्षा 2021 का आयोजन दीक्षांत समारोह के बाद मार्च में संभावित है। उन्होंने कहा कि कोर्स वर्क के बाद ग्रेडिंग सिस्टम को लागू किया जायेगा। कुलपति ने कहा कि कोर्स वर्क के प्रेजेंटेशन से यदि कोई संतुष्ट नहीं होगा तो, उसे 15 दिनों के लिए समय दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्लाग्रिज्म सिनोप्सिस के लिए अनिवार्य नहीं है। नए रेगुलेशन के अंतर्गत यह कहीं भी प्रावधान नही है। उन्होंने कहा कि मूल बिंदु जो छात्र इच्छुक हैं उनको रखना है और विभागाध्यक्ष यह तभी प्रमाणित करेंगे,जब उसकी सुविधा शोधार्थी के पास होगी। अगर उसके पास इसकी सुविधा नहीं है तो, उसके शोध के मूल बिंदु (टॉपिक) को बदल दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि शोध कार्य करने के लिए शिक्षकों को भी पूरी ईमानदारी व निष्ठा से कार्य करने की आवश्यकता है। कुलपति ने कहा कि बिहार का यह पहला विश्वविद्यालय है, जो इस प्रकार का पहल कर रहा है, जिससे शोध कार्य के क्षेत्र में यह विश्वविद्यालय विकास कर सके और राज्य के अन्य विश्वविद्यालयों के लिए रोल मॉडल बने। उन्होंने विश्वविद्यालय में आए नए शिक्षकों को भी कमान संभालने पर बल दिया। इस मौके पर प्रति कुलपति लक्ष्मी नारायण सिंह, अध्यक्ष छात्र कल्याण प्रोफेसर उदय शंकर ओझा, बिहार सरकार के साइंस एंड टेक्नोलॉजी के प्रधान सचिव, बीएन मंडल विश्वविद्यालय मधेपुरा के पूर्व कुलपति प्रोफेसर एके राय, प्रोफेसर एमआई रहमान, विज्ञान संकाय अध्यक्ष प्रोफेसर एके झा, सामाजिक विज्ञान संकाय अध्यक्ष प्रोफेसर अशोक कुमार सिंह, मानविकी संकाय अध्यक्ष प्रोफेसर गजेंद्र कुमार, वाणिज्य संकाय अध्यक्ष प्रोफेसर ए आर सफी, रसायन शास्त्र अध्यक्ष प्रोफेसर उदय अरविंद, मनोविज्ञान विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर आरडी राय, उर्दू विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर ए एम हाशमी, सीसीडीसी प्रोफ़ेसर हरिश्चंद्र, परीक्षा नियंत्रक प्रोफेसर अनिल कुमार सिंह, कुलसचिव कर्नल श्यामानंद झा आदि ने भाग लिया। हिन्दुस्थान समाचार/गुड्डू-hindusthansamachar.in