जिले में कटिहार के कोढ़ा-गैंग का उत्पात, दो जेल भेजे गये
जिले में कटिहार के कोढ़ा-गैंग का उत्पात, दो जेल भेजे गये
बिहार

जिले में कटिहार के कोढ़ा-गैंग का उत्पात, दो जेल भेजे गये

news

मुंगेर, 17 सितंबर (हिस) । जिले के खड़गपुर, असरगंज और शामपुर पुलिस थाना क्षेत्रों में पिछले दिनों बैंक से रूपया लेकर लौटनेवाले ग्राहकों के साथ छिनतई की घटना में कटिहार जिला और पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिला के अपराधियों की संलिप्तता के सबूत मिले हैं । चूंकि छिनतई गिरोह में कटिहार जिले के थाना कोढ़ा के अधिकांश अपराधी शामिल हैं, गिरोह ‘‘कोढ़ा -गैंग‘‘ के नाम से पूरे राज्य में विख्यात है । पुलिस ने तत्काल कोढ़ा गैंग के दो सदस्यों क्रमशः (1) रंजीत यादव, साकीन-नया टोला, जुराबगंज, थाना-कोढ़ा, जिला कटिहार और (2) रितेश ग्वाला, साकीन- फाटा पुकुर, जिला-जलपाईगुड़ी, राज्य -पश्चिम बंगाल, को गिरफ्तार कर आज मुंगेर जेल भेज दिया है । गिरफ्तार कोढ़ा गिरोह के सदस्यों ने पुलिस के समक्ष उजागर किया है कि कटिहार से कोढ़ा गिरोह के सदस्य भागलपुर जिला के सुलतानगंज में ठहरते हैं और सुलतानगंज से ही मुंगेर जिले के खड़गपुर, असरगंज और शामपुर थाना क्षेत्रों में बैंक के आसपास की रेकी करते हैं और गिरोह की दूसरी टोली ग्राहकों के साथ छिनतई की घटना को अंजाम देती है । पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने आज प्रेस-विज्ञप्ति में बताया है कि हाल में खड़गपुर थाना क्षेत्र में 40 हजार रूपए की छिनतई की घटना के बाद भाग रहे अपराधियों को स्थानीय ग्रामीणों ने पकड़ा था और दोनों को पुलिस के हवाले सुपुर्द कर दिया था । जब पुलिस ने उनलोगों से सघन पूछताछ की, तो कटिहार के कोढ़ा गैंग के उत्पात का पता चला । पुलिस अधीक्षक ने आगे बताया कि कोढ़ा गैंक के सदस्य पूरी ट्रेनिंग लेकर लूट की घटनाओं में शामिल होते हैं । गिरोह के सदस्यों को पहले बाइक का ताला ‘‘मास्टर-चाभी‘‘ से खोलने की शिक्षा दी जाती है । गिरोह के सदस्यों को बाइक चलाने की ट्रेनिंग भी दी जाती है । गिरोह के सदस्यों ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उनलोगों को तीन माह तक बाइक को तेज चलाने और अचानक रोककर विपरीत दिशा में भागने की ट्रेनिंग भी तीन माह तक दी गई थीं ।उनलोगों को बाइक की डिक्की का ताला खोलने और चलती गाड़ी में भी डिक्की का ताला खोलकर सामान गायब करने की ट्रेनिंग दी गई है । हिन्दुस्थान समाचार /श्रीकृष्ण-hindusthansamachar.in