जनादेश के लिए सांप्रदायिक नुस्खे का इस्तेमाल कर रहे देश के गृह राज्य मंत्रीः शिवानंद तिवारी
जनादेश के लिए सांप्रदायिक नुस्खे का इस्तेमाल कर रहे देश के गृह राज्य मंत्रीः शिवानंद तिवारी
बिहार

जनादेश के लिए सांप्रदायिक नुस्खे का इस्तेमाल कर रहे देश के गृह राज्य मंत्रीः शिवानंद तिवारी

news

गृह राज्य मंत्री नित्यानंद की बात से देश को लेकर गंभीर चिंता हो रही पटना, 14 अक्टूबर (हि.स.)। राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि चुनाव जितने के लिए देश के गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय अपने गुरु अमित शाह की तरह सांप्रदायिक नुस्खे का इस्तेमाल कर रहे हैं। बुधवार को उन्होंने कहा कि नित्यानंद राय का भाषण 2015 के विधानसभा चुनाव की याद दिला रहा है। उस चुनाव में लालू और नीतीश एक साथ थे। भारतीय जनता पार्टी उस गठबंधन को पराजित करने के लिए बेचैन थी। मौजूदा गृह मंत्री अमित शाह ने उस चुनाव में अपना पूरा जोर लगा दिया था। भाजपा के लिए वह प्रतिष्ठा का चुनाव था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बिहार के चुनाव को गुजरात का चुनाव मान कर अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी, लेकिन इन सबके बावजूद पराजय की संभावना देखकर अमित शाह ने अपने ब्रह्मास्त्र का इस्तेमाल किया था। सांप्रदायिक नफरत इन लोगों का अंतिम हथियार है। इसी के बलबूते देश में इनकी सरकार बनी है। अमित शाह ने कहा था कि बिहार में अगर भाजपा हारती है और लालू-नीतीश का गठबंधन जीतता है तो पाकिस्तान में पटाखे छूटेंगे, लेकिन बिहार की समाजवादी धरती ने साम्प्रदायिक नफरत की राजनीति को उस चुनाव में करारी शिकस्त दी थी। तिवारी ने कहा कि आज उन्हीं अमित शाह के छोटे मंत्री नित्यानंद राय अपने गुरु का अनुसरण करते हुए कह रहे हैं कि महागठबंधन जीतेगा तो बिहार कश्मीर के आतंकवादियों का शरणस्थली बन जाएगा। अपनी नासमझी में नित्यानंद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और गृहमंत्री अमित शाह दोनों को नाकाबिल साबित कर रहे हैं। नीतीश अपनी सरकार के काम पर पुनः जनादेश मांग रहे हैं, लेकिन नित्यानंद को नीतीश के काम पर जनादेश पाने का भरोसा नहीं है। इसलिए सांप्रदायिक नुस्खे का इस्तेमाल कर रहे हैं। साथ ही यह भी कुबूल कर रहे हैं कि भारत सरकार का गृह विभाग आजकल इतना अक्षम हो गया है कि कश्मीर से चलकर वहां के आतंकवादी बेरोक-टोक बिहार पहुंच सकते हैं। गृह राज्य मंत्री नित्यानंद की बात से देश को लेकर गंभीर चिंता हो रही है कि कैसे लोगों के हाथ में हमारा देश चला गया है। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/विभाकर-hindusthansamachar.in